नई हज नीति-2018 इस महीने जारी कर दी जाएगी

मुख्तार अब्बास नकवी ने मुंबई में हज 2017 पर समीक्षा बैठक एवं ट्रेनिंग कैंप को सम्बोधित किया।

Spread the love

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि नई हज नीति-2018 इस महीने जारी कर दी जाएगी। मुंबई के हज हाउस में हज 2017 पर समीक्षा बैठक एवं हाजियों के लिए आयोजित 22वे ट्रेनिंग कैंप के दौरान नकवी ने कहा कि अगले साल से हज इस नई हज पालिसी के अनुसार ही आयोजित किया जायेगा।
नकवी ने कहा कि हज नीति-2018 तय करने के लिए उच्च स्तरीय कमेटी अपनी रिपोर्ट तैयार करने के अंतिम चरण में है और इसी महीने इस नीति को जारी कर दिया जायेगा। नई हज पालिसी का उद्देश्य हज की संपूर्ण प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाना है। इस नई पालिसी में हज यात्रियों के लिए विभिन्न सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जायेगा। नकवी ने कहा कि इस नई हज नीति के महत्वपूर्ण बिंदुओं में समुद्री मार्ग से भी हज यात्रा को दोबारा शुरू करना शामिल है। हज यात्रियों के मुंबई से समुद्री मार्ग के जरिये जेद्दा जाने का सिलसिला 1995 में रुक गया था। हज यात्रियों को जहाज (समुद्री मार्ग) से भेजने पर यात्रा संबंधी खर्च करीब आधा हो जाएगा। नई तकनीक एवं सुविधाओं से युक्त पानी का जहाज एक समय में चार से पांच हजार लोगों को ले जाने में सक्षम हैं। मुंबई और जेद्दा के बीच 2,300 नॉटिकल मील की एक ओर की दूरी सिर्फ दो-तीन दिनों में पूरी कर सकते हैं। जबकि पहले पुराने जहाज से 12 से 15 दिन लगते थे।
समुद्री मार्ग से हज यात्रा को दोबारा शुरू करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए 28 अगस्त को नई दिल्ली में केंद्रीय जहाजरानी मंत्री, नितिन गडकरी के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय बैठक होगी। इस बैठक में जहाजरानी मंत्रालय और अल्पसंख्यक मंत्रालय के उच्च अधिकारी शामिल होंगे। नकवी ने कहा कि समुद्री मार्ग से हज यात्रा के सम्बन्ध में सऊदी अरब की सरकार से भी बातचीत की प्रक्रिया चल रही है। नकवी ने कहा कि हज 2017 के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय ने हज कमिटी ऑफ़ इंडिया एवं अन्य सम्बंधित एजेंसियों के साथ मिल कर तैयारियां समय से बहुत पहले ही पूरी कर ली थी ताकि हज यात्रा को सरल-सुगम बनाया जा सके।
समीक्षा बैठक में नकवी ने हज 2017 के पहले चरण से जुड़े सभी पहलुओं पर सम्बंधित अधिकारियों से विस्तार में चर्चा की। श्री नकवी ने कहा कि हज यात्रा के दौरान हाजियों की सुविधा और सुरक्षा केंद्र सरकार की प्राथमिकता है।
ट्रेनिंग कैंप में हज कमिटी ऑफ़ इंडिया तथा अन्य सम्बंधित एजेंसियों के अधिकारियों ने हाजियों और निजी टूर ऑपरेटरों के प्रतिनिधियों को हज यात्रा से सम्बंधित सारी जानकारी उपलब्ध कराई।

हज 2017 के लिए हाजियों के जत्थे की रवानगी 24 जुलाई से देश के विभिन्न हिस्सों से शुरू हो चुकी है। सऊदी अरब द्वारा कोटे में की गई बड़ी वृद्धि के बाद हज कमेटी ऑफ इंडिया के माध्यम से 1,25,025 हाजी हज यात्रा पर जा रहे हैं। जबकि 45,000 हज यात्री प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के माध्यम से हज पर जा रहे हैं। इस वर्ष भारत में 21 केंद्रों से कुल 1,70,025 हज यात्री जा रहे हैं।
पहले चरण में अभी तक लगभग 65 हजार हाजी जा चुके हैं। पहले चरण में दिल्ली, गया, गोवा, गौहाटी, कोलकाता, लखनऊ, मंगलौर, श्रीनगर, वाराणसी से हाजी सऊदी अरब के लिए रवाना हुए। दूसरे चरण में हाजी बैंगलोर, भोपाल, रांची, नागपुर, मुंबई, जयपुर, हैदराबाद, कोच्चि, चेनई, औरंगाबाद, अहमदाबाद, इंदौर से जा रहे हैं। दूसरा चरण 26 अगस्त को समाप्त होगा।

You might also like More from author

Comments are closed.

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE