फतवे के जवाब में सोनू ने सिर मुंडवाया, नाई ने मांग की दस लाख रूपए

कहा कि सभी धर्मों का करते है सम्मान

0 820

नई दिल्ली : अज़ान पर ट्वीट को लेकर उठते विवाद के बाद गायक सोनू निगम ने सफाई देते कहा है कि वे सभी धर्मों का सम्मान करते है। उन्होंने सिर्फ लाउडस्पीकर बजने पर सवाल उठाया था न कि अजान पर। यह बात मंदिरों, मस्जिदों, गुरूदारा सभी जगह लागू होती है। वही सोनू ने मामले में बढ़ते विवाद तथा अपने खिलाफ जारी फतवा के बाद सिर मुंडवा लिया है। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल मॉइनरिटी यूनाइटेड काउंसिल के वाइस प्रेसिडेंट सैयद शा अतेफ अली अल कादरी ने फतवे जारी कर कहा था कि जो कोई भी सोनू निगम का सिर मूंड दे और उसके गले में फटे-पुराने जूतों की माला पहनाए, उसे देशभर में घुमाए तो वह उसे 10 लाख रुपए देंगे।

बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में सोनू ने कहा कि वे मुस्लिम विरोधी नहीं हैं। उन्हों ने कहा कि ‘मैंने सिर्फ लाउडस्पीककर का मुद्दा उठाया था, धर्म के नाम पर शोर मचाना गुंडागर्दी है। इस दौरान सोनू ने फतवे का जवाब भी बेहद अलग ढंग से दिया। सोनू ने कहा, ”यही वो गुंडागर्दी है जिसका मैं जिक्र कर रहा था, मैंने आलिम को बुलाया है। ये बाल जो आप देख रहे हो, इस मैं काट दूंगा कुछ दिनों में।” अपनी बात कहने के बाद सोनू ने नाई को बुलाया और सिर मुंडवा दिया। सोनू के सिर मुंडाने के बाद की तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। ट्विटर पर अचानक से सोनू निगम के समर्थन में ट्वीट्स की बाढ़ आ गई है।

वही सोनू के इस कदम के बाद आलिम ने पश्चिम बंगाल यूनाइटेड मॉइनरिटी यूनाइटेड काउंसिल के वाइस प्रेसिडेंट से दस लाख रूपए की मांग की है। हाकिम ने कहा कि अली अल कदारी उन्हें जल्द से जल्द दस लाख रूपए दें, ताकि  इन रूपए को वो किसी चैरिट संस्थान को दान कर देंगे।

सोनू निगम ने मीडियाकर्मियों से कहा कि वह किसी धर्म का निरादर नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि त्योहारों में लोग फिल्मी गाने बजाकर शराब पीकर सड़कों पर नाचते हैं जिससे आम लोगों और पुलिस को काफी तकलीफ होती है. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा, ‘क्या यह दादागिरी नहीं है?’ सोनू निगम ने यह भी साफ किया कि उन्हें अजान से समस्या नहीं है, उन्हें धार्मिक स्थलों में लाउडस्पीकरों के उपयोग से समस्या है। उन्हें उनकी बात सही तरीके से समझकर उठानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे इसी देश में बढ़ने वाले हैं और हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम उन्हें अभी से थोड़ा बेहतर माहौल दे सकें. सोनू निगम ने कहा कि वह लेफ्ट-राइट किसी विंग के समर्थक नहीं हैं, वह एक सोशल मुद्दा उठा रहे हैं जिसके लिए लोगों को उनका साथ देना चाहिए।

You might also like More from author

Comments

Loading...