सरकार अब जल्द ही जारी करेगी 100 रुपये का सिक्का, जानिए इसकी खासियत

डॉ एमजी रामचंद्रन की जन्मशताब्दी पर जारी होगा 100 रुपये का सिक्का

0 808
एआईएडीएमके के संस्थापक एमजी रामचंद्रन के शताब्दी वर्ष पर 100 रुपये का सिक्का जारी होने वाला है।
यह 100 रुपये का सिक्का 44 एमएम व्यास का होगा। इसमें 50 फीसदी सिल्वर का इस्तेमाल किया गया है।

सरकार जल्द ही सौ रुपये का सिक्का जारी होगा। साथ

ही पांच रुपये का भी नया सिक्का सरकार जारी करेगी।

सरकार यह दोनों सिक्के डॉ एमजी रामचंद्रन की

जन्मशताब्दी के मौके पर जारी करेगी।  सौ रुपये का

नया सिक्का 44 मिलीमीटर का होगा। इसका वजन 35

ग्राम होगा।सौ रुपये का सिक्का चार धातुओं को मिलाकर

बनेगा जिसमें चांदी 50 फीसद, तांबा 40 फीसद, निकल

पांच फीसद और जस्ता पांच फीसद होगा। इसके अगले भाग

पर अशोक स्तंभ होगा। इसके एक ओर भारत और एक ओर

इंडिया लिखा होगा। इसके नीचे अंकों में 100 लिखा होगा।

सिक्के के पिछले भाग पर एमजी। रामचंद्रन की फोटो होगी।

फोटो के नीचे 1917-2017 लिखा होगा। काले धन से निपटने

के लिए बड़ी राशि के नोटों की जगह सिक्के जारी करने की

सिफारिश होती रही है। पिछले साल महाराणा प्रताप की 476वीं

जयंती पर भी 100 रुपये का सिक्का जारी किया गया था। इससे

पहले 2010, 2011, 2012, 2014 और 2015 में भी 100 रुपये के

सिक्के जारी किए जा चुके हैं। वहीं पांच रुपये के नए सिक्‍के का वजन

6 ग्राम होगा। यह सिक्‍का में 75 फीसदी कॉपर, 20 फीसदी जिंक

और 5 फीसदी निकेल से मिलकर बना होगा। फिलहाल 1, 2, 5 और

10 रुपये के सिक्के चलन में हैं। इस सिक्‍के के एक भाग पर

अशोक स्तंभ बना होगा। सिक्‍के के दूसरी तरफ अशोक स्तंभ के

साथ एक तरफ भारत और INDIA भी लिखा होगा। साथ ही

इसके नीचे अंकों में 5 लिखा होगा।  एमजी रामचंद्रन 197

से1987 तक तमिलनाडु के तीन बार मुख्यमंत्री रहे। राजनीति से

पहले वह दक्षिण भारतीय फिल्मों के बड़े अभिनेता और फिल्म निर्माता थे। 17 जनवरी 1917 कोश्रीलंका के कैंडी में जन्मे रामचंद्रन ने 1972 में एआईडीएमके कीस्थापना की।  वर्ष 1988 में उन्हें मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया। 

 

You might also like More from author

Comments

Loading...