देश के 13वें उपराष्ट्रपति बने वेंकैया नायडू, राष्ट्रपति भवन में ली शपथ

हिंदी में ली शपथ

Spread the love

नई दिल्ली: एम. वेंकैया नायडू देश के 13वें उपराष्ट्रपति बन गए हैं। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्‍हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। उन्होंने राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में आयोजित समारोह में पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह में एक बात यह भी खास रही कि वेंकैया नायडू ने हिंदी में शपथ ली। वह आज से ही अपनी नई पारी की शुरुआत करेंगे। शपथ ग्रहण से पहले वेंकैया नायडू ने महात्‍मा गांधी, सरदार पटेल और दीन दयाल उपाध्‍याय को श्रद्धांजलि दी।

नायडू आज राज्यसभा के सभापति के नाते मानसून सत्र के अंतिम दिन सदन का संचालन भी करेंगे। इससे पहले गुरुवार को उन्होंने सदन ठप करने की प्रवृत्ति रोकने के लिए सख्ती बरतने के इरादे साफ कर दिए। उन्होंने कहा कि सदन चलाने के लिए वह नियमों को लागू करेंगे। नायडू ने निवर्तमान उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का नाम लिए बिना देश के अल्पसंख्यकों में असुरक्षा की भावना के माहौल वाले बयान को भी खारिज कर दिया।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वेंकैया ऐसे पहले उपराष्ट्रपति बने हैं, जो इतने वर्षों तक इन्हीं लोगों के बीच पले-बढ़े। देश को पहले ऐसे उपराष्ट्रपति मिले, जो सदन की बारीकियों से वाकिफ हैं। वह प्रक्रिया से निकले पहले उपराष्ट्रपति देश को प्राप्त हो रहे हैं। मोदी ने कहा कि नायडू पहले ऐसे उपराष्ट्रपति हैं, जो आजाद भारत में पैदा हुए। उन्होंने कहा कि नायडू किसान के बेटे हैं और गांव को भलीभांति जानते हैं। वह जेपी आंदोलन से भी जुड़े रहे।

वेंकैया नायडू का जन्म 1 जुलाई 1949 को चावटपलेम, नेल्लोर जिला, आंध्र प्रदेश के एक कम्मा परिवार में हुआ था। 29 साल की उम्र में 1978 में पहली बार उदयगिरी से विधायक बने। वेंकैया नायडू आंध्र प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष भी बने। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में राष्ट्रीय महासचिव, राष्ट्रीय प्रवक्ता और अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री की जिम्मेदारी भी संभाली थी।

You might also like More from author

Comments are closed.

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE