fbpx Press "Enter" to skip to content

भूस्खलन से कशांग नाला के समीप बंद राष्ट्रीय राजमार्ग छह घंटे बाद खुला




शिमलाः भूस्खलन की वजह से हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में पहाड़ी दरकने से

अवरूद्ध राष्ट्रीय राजमार्ग को खोल दिया गया है। पहाड़ी दरकने से कशांग नाला के

पास सुबह सात बजे राष्ट्रीय राजमार्ग पूरी तरह से अवरुद्ध हो गया था।

इस मार्ग के बंद होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही थी।

प्रशासन और पीडब्ल्यूडी के कर्मचारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद इसे खोल दिया ।

भूस्खलन से सड़क के दोनों ओर सैकड़ों वाहन फंसे हुए थे

कल रात से अवरूद्ध जंग्गी सड़क को भी खोल दिया गया है।

कुछ दिन पहले इस मार्ग पर चट्टान गिरने से चलती बाइक पर सवार दो युवकों

की मौत हो गई थी। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजमार्ग पांच काजा को

लाहुल स्पीति से जोड़ता है और कशांग नाला के पास आए दिन

पहाड़ी दरकती रहती है जिसके चलते यह मार्ग अवरुद्ध होता रहता है।

मंगलवार सुबह भी पहाड़ी के एक हिस्सा सड़क पर आ गिरा और

मार्ग पूरी तरह से बंद हो गया। बताया जा रहा है कि काजा हाईवे को

चौड़ा करने का काम चला हुआ है जिसमें धमाके का इस्तेमाल भी किया जाता है

, इसके बाद सड़क को तो साफ कर दिया जाता है, लेकिन पहाड़ की तरफ

चट्टानों का लूज हिस्सा कभी भी गिर जाता है। लैंड स्लाइडिंग की वजह से

हाईवे कई बार बंद हो जाता है। पूरे हिमालय के क्षेत्र में अत्यधिक बारिश के

दौरान अक्सर ही ऐसे हादसे होते रहते हैं। सीमा के लिहाज से महत्वपूर्ण

समझे जाने वाले इन रास्तों की निगरानी और रख रखाव की जिम्मेदारी

सीमा सड़क संगठन को सौंपी गयी है। जिसके जवान नियमित तौर पर

इन तमाम सड़कों की देख रेख करते रहते हैं। अक्सर ही बारिश के

मौसम में जब ऊपर से पहाड़ का मलवा नीचे की तरफ आता है तो

कई बार वह पूरी की पूरी सड़क को बहाकर अपने साथ ही नीचे ले

जाता है। ऐसे मौकों पर नये सिरे से सड़कों को चालू करना भी सीमा

सड़क संगठन की ही जिम्मेदारी होती है। खास तौर पर हिमालय के

चीन वाले इलाकों में इस पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है।



Rashtriya Khabar


One Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com