fbpx Press "Enter" to skip to content

आयुष्मान भारत के एक करोड़ का आंकड़ा पर नरेंद्र मोदी प्रसन्न

नयी दिल्ली : आयुष्मान भारत योजना के तहत एक करोड़ लाभार्थियों का आंकड़ा पहुंचा

है। इस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीब परिवारों को पांच लाख रुपये तक निशुल्क

इलाज सुलभ कराने वाली योजना की सफलता पर गहरी प्रसन्नता व्यक्त की। प्रधानमंत्री

ने अनेक ट्वीट्स में कहा है कि हर भारतीय इस पर गौरवान्वित महसूस करेगा कि यह

संख्या 1 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है। उन्होंने मेघालय की पूजा थापा के साथ

टेलीफोन पर बातचीत की जो ‘आयुष्मान भारत’ की एक करोड़वीं लाभार्थी हैं। श्री मोदी ने

कहा,‘‘दो साल से भी कम समय में इस पहल का अनगिनत लोगों के जीवन पर

सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। मैं सभी लाभार्थियों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं। मैं

उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए मंगल-कामना भी करता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा, मैं

आयुष्मान भारत से जुड़े डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मियों और अन्य सभी लोगों के अथक

प्रयासों की सराहना करता हूं। उन्होंने कहा, इन सभी लोगों के प्रयासों ने इसे दुनिया का

सबसे बड़ा स्वास्थ्य कार्यक्रम बना दिया है। इस पहल ने अनगिनत भारतीयों, विशेषकर

गरीबों और बुनियादी सुविधाओं से वंचित लोगों का विश्वास जीता है। आयुष्मान भारत के

फायदों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके सबसे बड़े लाभों में से एक

पोर्टेबिलिटी है। श्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा,लाभार्थी न केवल जहां वे पंजीकृत हैं,

बल्कि भारत के अन्य हिस्सों में भी बेहतरीन और किफायती चिकित्सा सेवा प्राप्त कर

सकते हैं। इससे उन लोगों को काफी सहूलियत होती है जो अपने घर से दूर कहीं और काम

करते हैं या ऐसी जगह पर पंजीकृत हैं जहां के निवासी वे नहीं हैं।

आयुष्मान भारत योजना कई राज्यों में नहीं

इस योजना को चालू करने के बाद भी सबसे पहले दिल्ली सरकार ने अपनी स्वास्थ्य

योजना का हवाला देते ह ए आयुष्मान योजना को लागू करने से इंकार कर दिया था।

चुनाव प्रचार के दौर में भी यह मुद्दा उछला था और सार्वजनिक चर्चा के दौरान खुद

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दोनों योजनाओं की विस्तार से व्याख्या भी कर दी थी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from नेताMore posts in नेता »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat