fbpx Press "Enter" to skip to content

नालंदा मेडिकल कॉलेज में मरीज के इलाज में कोताही पर फिर हंगामा

  • डॉक्टरों से की बदसलूकी, पुलिस की लापरवाही से तीसरी बार हुआ हंगामा

पटना : नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मरीजों के इलाज में लगातार कोताही बढ़ती

जा रही है। इससे मरीजों की मौत हो रही है पिछले 8 दिनों के अंदर आज तीसरी बार

परिजनों ने कोरोना मरीज के मौत के बाद एनएमसीएच में जमकर हंगामा किया और

तोड़फोड़ की। कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टरों पर गुस्सा

निकाला व अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की। एनएमसीएच को कोविड डेडिकेटेड

अस्पताल बनाने के बाद हर दिन कोरोना मरीजों की जान जा रही है। ऐसे में परिजन

अपना गुस्सा डॉक्टरों पर निकाल रहे हैं। बुधवार को फिर कोरोना पीड़ित की मौत के बाद

गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। अस्पताल में तोड़फोड़ के साथ ही

उन्होंने डॉक्टरों के साथ भी बदसलूकी की। किसी तरह डॉक्टरों ने एक कमरे में बंद होकर

अपनी जान बचाई। गौरतलब है कि एनएमसीएच में लगातार यह तीसरा मामला है जब

अस्पताल में तोड़फोड़ व डॉक्टरों के साथ बदसलूकी की गई है। इसके पहले भी मृतकों के

परिजन डॉक्टरों के साथ हाथापाई और अस्पताल में हंगामा कर चुके हैं। इसको देखते हुए

अस्पताल में पुलिस बल की तैनाती भी की गई थी। लेकिन आज का बवाल पुलिस की

मौजूदगी में हुआ। पुलिस सुरक्षा के बावजूद भी परिजनों ने डॉक्टरों को अपना निशाना

बनाया। पुलिस मूकदर्शक बनी रहे , बल्कि वहां तैनात जवान हंगामा को देखकर इधर

उधर भाग निकले।

नालंदा मेडिकल कॉलेज के अलावा अन्य अस्पतालों का यही हाल

मरीजों को सही इलाज नहीं मिलने की शिकायत पर अन्य अस्पतालों में भी नालंदा

मेडिकल कॉलेज जैसी स्थिति कई बार उत्पन्न हो रही है। दरअसल जैसे जैसे कोरोना की

स्थिति बिगड़ती जा रही है, वैसे वैसे इन तमाम अस्पतालों में चिकित्सा व्यवस्था की

खामियों से नाराज मरीज के परिजन धैर्य खोकर हंगामा, तोड़फोड़ और मारपीट करने पर

उतारू हो रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: