Press "Enter" to skip to content

म्यांमार की सेना ने हेलीकॉप्टर गनशिप का किया इस्तेमाल




नेपिता: म्यांमार की सेना ने सगाइंग क्षेत्र के गांवों में बमबारी करने के लिए गनशिप हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया है। लोगों को डराने के इस प्रयास में जगह-जगह छापेमारी की गई और तोपखानों का भी उपयोग किया गया। म्यांमार नाओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को पांच हेलीकॉप्टर न्यांग हला गांव के आसपास तबायिन के पूर्वी हिस्से में पहुंचे और इनमें करीब 300 सैनिकों ने गांवों पर हवाई हमले शुरू कर दिए।




इससे भयभीत होकर न्यांग हला में रहने वाले 5,000 निवासियों में से अधिकांश वहां से भाग गए। स्थानीय लोगों ने पुष्टि की है कि हवाई हमले में सात लोग मारे गए थे- इनमें से छह न्यांग हला और एक थिटन गांव से हैं। इस बीच, सोमवार को करीब 50 जुंटा जवानों ने इनपिन गांव में छापेमारी की थी। म्यांमार नाओ ने एक स्थानीय के हवाले से कहा कि लगभग 150 सैनिकों ने इनबोके और इनगिनपिन गांवों में शक्ति प्रदर्शन किया और इस दौरान 11 झोपड़ियों को आग के हवाले कर दिया।




म्यांमार की सेना की वजह से हजारों लोग गांव छोड़कर भागे

शनिवार से लेकर अब तक तबायिन के दस गांवों: न्यांग हला, सेगीताव, थायेटावो, मुक्ताविन, मीओइ, लेत्येत्कोन, वीग्यी, नाम्यार, इंयकइन और इंपिन से हजारों की संख्या में लोग भाग गए हैं।

वर्ष 2020 में राज्य काउंसलर दाऊ आंग सान सू की को बड़े अंतर से चुनाव में जीत मिली थी, लेकिन सेना ने चुनाव के परिणामों को मान्यता देने से इनकार कर दिया था। यहां 1 फरवरी को जब से सैन्य तख्तापलट हुआ है, तब से 1,000 से अधिक नागरिक मारे जा चुके हैं और यही सशस्त्र विद्रोह की भी वजह रही है। गौरतलब है कि सगाइंग उन क्षेत्रों में से एक है, जिसने जुंटा सैन्य शासन के खिलाफ विद्रोह की पहले शुरुआत की थी।  इस वजह से वहां अब लोग भी हथियारबंद होकर सेना के खिलाफ प्रतिरोध करने लगे हैंं। देश में कई स्थानों पर इसी वजह से अब गृहयुद्ध जैसी परिस्थिति बन आयी है। 



More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: