Press "Enter" to skip to content

म्यांमार की सेना ने गोले बरसाकर 160 घरों को जला दिया




बैंकॉकः म्यांमार की सेना का आतंक बदस्तूर जारी है। इस बार विलंब से मिली सूचना के मुताबिक वहां के सैन्य शासन के बीच म्यांमार की सेना ने उत्तर पश्चिमी सीमा पर आतंक बरपाया है।




उसके द्वारा आबादी वाले इलाकों में गोले बरसाये गये हैं। इसकी वजह से वहां के दो चर्च सहित 160 घरों में आग लग गयी थी। चिन प्रांत के थाटलांग में यह हमला किया गया है।

देश के कई इलाकों में अब सेना को हथियारबंद विद्रोहियों का मुकाबला करना पड़ रहा है। इसकी वजह से आक्रामकता बढ़ती जा रही है। याद दिला दें कि आंग सान सू की चुनी हुई सरकार को सत्ता से बेदखल कर सैन्य जनरलों ने सत्ता पर कब्जा कर लिया था।

उस वक्त शीघ्र ही देश में नये सिरे से चुनाव कराने जैसी बात कही गयी थी। समय बीतने के साथ साथ यह स्पष्ट हो गया कि म्यांमार की सेना इतनी आसानी से सत्ता पर से अपना कब्जा नहीं हटाने जा रही है।

उसके बाद भी अलग अलग संगठनों ने आपस में संपर्क कर नये सिरे से हथियारबंद संघर्ष का एलान कर दिया। इस लड़ाई के लगातार तेज होने के बीच ही म्यांमार की सेना द्वारा आबादी वाले इलाकों में तोप के गोले बरसाने की यह शिकायत मिली है।

दूसरी तरफ सरकारी प्रवक्ता ने ऐसे आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि साजिश के तहत देश को बदनाम करने के लिए ही ऐसी अफवाह फैलायी जा रही है।




दूसरी तरफ गैर सरकारी संगठन बार बार इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि हल्के और देशी हथियारों के साथ साथ बारूदी सुरंग की मदद से अब विद्रोही म्यांमार की सेना के लिए बड़ी चुनौती खड़ी कर रहे हैं।

म्यांमार की सेना ने थाटलांग पर दोबारा हमला किया

इस बार थाटलांग में हुए इस हमले में कितने लोग मारे गये हैं अथवा घायल हुए हैं, उसकी जानकारी नहीं मिल पायी है। सूचना के मुताबिक सेना का यह तोप दागने का काम गत शुक्रवार को हुआ था।

तोप के गोलों से जिन इलाकों में आग लगी थी, वहां रात भर आग की लपटों को उठते हुए देखा गया है। इस शहर पर म्यांमार की सेना का यह दूसरा हमला है। इसके पहले भी वहां सेना ने अनेक घरों को आग लगा दिया था।

सूचना के मुताबिक वहां के करीब दस हजार से अधिक लोग शहर छोड़कर भाग गये हैं। वे आस पास के इलाकों में शरण लिये हुए हैं।

अनेक लोगों ने किसी तरह सीमा पारकर भारत के मिजोरम राज्य में शरण ले रखी है। अंतिम सूचना के मुताबिक वहां के एक अनाथालय के बीस कर्मचारी और वहां मौजूद बच्चों के अलावा अब शहर में कोई भी नागरिक नहीं है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: