Press "Enter" to skip to content

उत्तर प्रदेश बाराबंकी के किसानो को रास आने लगी है मशरूम की खेती




बाराबंकी : उत्तर प्रदेश बाराबंकी के किसानो को रास आने लगी है मशरूम की खेती कभी अफीम की




खेती के लिए बदनाम उत्तर प्रदेश का बाराबंकी जिला अब मेंथा के साथ-साथ मशरूम की खेती के

लिए अपनी पहचान बनाने लगा है। जिले के किसान मशरूम की खेती कर खासा मुनाफा कमा रहे है

और लोगों को रोजगार देकर गांव से पलायन भी रोक रहे हैं। हर मौसम में होने वाली मशरूम की

मांग शीत ऋतु में बढ़ जाती है। जिले के हैदरगढ़, बनीकोडर, दरियाबाद, सिद्धौर, हरख, त्रिवेदीगंज

और सूरतगंज ब्लॉक में मशरूम की खेती अधिक होती है। मशरूम उत्पादन में उद्यान विभाग भी

किसानों को प्रोत्साहित करती है। किसानों का कहना है कि अगर मेहनत की जाए तो एक लाख रूपये

की लागत लगाकर कुछ महीनों में तीन से चार लाख रुपए की आमदनी की जा सकती है। जिले के

सैदनपुर गांव में मशरूम की खेती करने वाले किसान राजेश की कुछ समय पूर्व माली हालत अच्छी

नहीं थी। राजेश ने 20 हजार की लागत लगाकर मशरूम की खेती की थी जबकि इस समय वे करीब

पांच से छह लाख की लागत लगाकर मशरूम की खेती कर 20 से 25 लाख कमा रहे हैं। राजेश ने

कहा कि वह अब कांट्रैक्ट पर खेत लेकर उसमें छप्पर लगाकर मशरूम की खेती कर रहे हैं। राजेश




बताते हैं कि छप्पर के अंदर बांस बल्लियों के सहारे मशरूम बोने के लिए बेड बनाए जाते हैं।

उत्तर प्रदेश मशरूम की खेती के लिए गेहूं के भूसे का उपयोग

उत्तर प्रदेश मशरूम की खेती के लिए गेहूं के भूसे का उपयोग किया जाता है, भूसे को सड़ा कर उसमें

मशरूम के बीज बोए जाते हैं। करीब एक महीना बाद बीज अंकुरित हो जाते हैं और उसमें से कुछ ही

समय बाद मशरूम निकल शुरू हो जाते हैं। मशरूम की खपत लखनऊ गोरखपुर गोंडा इलाहाबाद

बहराइच आदि जिलों में की जाती है। मशरूम बाजार में 80 से लेकर करीब 150 तक बिक्री हो जाती

है। जिला उद्यान विभाग के निरीक्षक गणेश शंकर मिश्रा ने बताया कि जिले में लगभग 500 से

अधिक लोग मशरूम की खेती कर रहे हैं। यह एक अच्छा कुटीर उद्योग है जिसमें किसान अपनी

खेती के साथ-साथ मसरूम पैदा करके अतिरिक्त आय का जरिया बना सकते हैं। मिश्रा ने बताया

कि अब कुछ लोग मशरूम की हाईटेक खेती भी कर रहे हैं। जिले के कुर्सी औद्योगिक क्षेत्र में एसी

प्लांट लगा कर मशरूम की खेती की जा रही है क्योंकि मशरूम की खेती में तापमान का विशेष

ध्यान रखा जाता है।



More from HomeMore posts in Home »
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: