fbpx Press "Enter" to skip to content

गुमनामी की वजह से अधिकांश लोगों को इस जलप्रपात की जानकारी नहीं

  • रांची से बीस किमी की दूरी पर सुंदर जंगली झरना

  • एक सौ फीट ऊंचाई से गिरता है पानी

  • फरवरी माह के बाद पानी सूख जाता है

  • बाइक से पहुंचना आसान रास्ता छोटा

अनूप पाण्डेय

अनगड़ा : गुमनामी के बाद भी यह रांची का अन्यतम सुंदर जल प्रपात है लेकिन खूबसूरत

होने के बाद भी अनेक लोग उसके बारे में नहीं जानते।

वीडियो में देख लीजिए इस सुंदर झरने को

इसका नाम है बहैया फॉल जो अपनी गुमनामी पर आंसू बहा रहा है। प्रशासनिक

अधिकारियों व जनप्रतिनिधि की उदासीनता के कारण अभी तक यह लोगों की नजरों में

नहीं आ पाया है। चारों ओर जंगलों से घिरे होने के कारण फॉल की प्राकृतिक सुंदरता बहुत

मनोरम है। यहां करीब 100 फीट की ऊंचाई से पानी गिरता है। ग्रामीणों ने बताया कि खेतों

के जरिए यहां पानी पहुंचता है। फरवरी माह में फॉल का पानी स्वतः सूख जाता है। ग्रामीण

आज भी इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित होने का सपना देख रहे हैं। ग्रामीणों की

माने तो यदि यहां चेक डैम का निर्माण हो जाए तो फॉल में वर्ष भर पानी की अविरल धारा

बहती रहेगी। पर्यटन विभाग यदि ध्यान दे तो इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया

जा सकता है। प्राकृतिक रूप से संपन्न बहैया में यदि पर्यटन को बढावा दिया जाए तो क्षेत्र

में रोजगार के नए आयाम स्थापित होंगे। इससे सरकार को राजस्व भी प्राप्त होगा। साथ

ही यहां के स्थानीय पढ़े-लिखे बेरोजगार युवकों को अपने घर गांव में ही रोजगार मिल

सकेगा। तो वहीं दूसरी ओर पर्यटकों की आवाजाही बढ़ने से टाटीसिलवे मिलन चौक हेसल

चौक गोंदली पोखर में स्थित छोटे बड़े सैकड़ों दुकानदारों एवं स्थानीय लोगों को भी प्रत्यक्ष

व अप्रत्यक्ष रूप से होगा।

गुमनामी के कारण पहुंच पथ कठिन होना

बहैया फॉल पहुंचने के लिए रांची मुरी पथ हेसल चौक के पास से बहैया गांव होते हुए पांच

किलोमीटर की दूरी तय कर यहां पहुंचा जा सकता है। संकीर्ण रास्ता होने की वजह से बड़ी

गाड़ी नहीं पहुंच सकती है। बाइक से फॉल के ऊपरी भाग में पहुंच सकते हैं। यहां से नीचे

उतर कर करीब पांच सौ मीटर के बाद बहैया फॉल है। फॉल का इलाका जंगल क्षेत्र है। चारों

तरफ हरे भरे पेड़ है। यहां से कुछ ही दूरी पर गंगाघाट रेलवे स्टेशन भी है।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »
More from रांचीMore posts in रांची »

4 Comments

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: