fbpx Press "Enter" to skip to content

मोमेंटम झारखंड में बड़े पैमाने पर हुई अनियमितता की जांच हो : बंधु तिर्की

फोटो :
वरीय संवाददाता
रांची : मोमेंटम झारखंड में हुई गड़बड़ियों की जांच की मांग पूर्व मंत्री और मांडर विधायक

बंधु तिर्की ने दोहरायी है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। श्री तिर्की ने

अपने पत्र में लिखा है कि मोमेंटम झारखंड में बड़े पैमाने पर अनियमितता का आरोप है।

इसे लेकर जनसभा नामक संस्था ने तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास व कई बड़े

पदाधिकारियों के खिलाफ भ्रष्ट्चार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने 100 करोड़ से अधिक के

घोटाले की शिकायत की है। एसीबी कौ सौंपी गयी शिकायत में आरोप लगाया गया है कि

मोमेंटम झारखंड में बिना कैबिनेट की स्वीकृति के ही बजट बढ़ा कर राशि की बंदरबांट की

गयी। इसमें तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास सहित तत्कालीन मुख्य सचिव राजबाला

वर्मा, उद्योग विभाग के निदेशक के. रविकुमार, सीआईआई के राहुल सिंह, सीएम के

तत्कालीन प्रधान सचिव संजय कुमार व ओएसडी सुनील कुमार वर्णवाल को आरोपी

बनाया गया है। इनपर आरोप है कि इन्होंने जनता के पैसों का दुरुपयोग किया। जितना

पैसा खर्च हुआ, उस अनुरुप में न तो निवेश आया और न ही युवाओं को रोजगार मिला।

अधिकारियों ने जनता के पैसों से यूएसए, सिंगापुर, कनाडा, यूके, जर्मनी आदि जगहों का

भ्रमण किया।इस मामले में हाई कोर्ट में पीआईएल भी दायर है। मोमेंटम झारखंड के लिए

प्रारंभिक बजट 8.50 था, जो बाद में बढ़ कर 16.94 हो गया। इसके बाद यह राशि बढ़कर

100 करोड़ हो गयी। इसपर कैबिनेट की भी स्वीकृति नहीं ली गयी।

मोमेंटम झारखंड के कई फैसलों का सरयू राय ने किया था विरोध

इसका तत्कालीन मंत्री सरयू राय ने भी विरोध किया था। एसीबी के संशोधित कानून के

अनुसार इस शिकायक पर सक्षम प्राधिकार से अनुमति लेकर ही आगे की कार्रवाई की जा

सकती है। सक्षम प्राधिकार राज्यपाल भी हो सकते हैं या फिर मंत्रीमंडल निगरानी एवं

सचिवालय विभाग, दोनों में से किसी एक से स्वीकृति लेकर इसकी जांच की सकती है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!