Press "Enter" to skip to content

मेरठ के इतिहास को याद कर खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया




  • युवा जिधर चलेगा भारत भी उधर चलेगा
  • अपनी सरकारों की सफलताएं भी बतायी
  • आजादी की लड़ाई में मेरठ का बड़ा योगदान
  • युवाओं का मार्ग ही देश का मार्ग है,यही 21वीं सदी का मंत्र है : मोदी

मेरठ: मेरठ के इतिहास का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछली सरकारों पर खेलों में युवाओं के सामर्थ्य को नजरंदाज करने का आरोप लगाते हुये रविवार को कहा कि आज जिस मार्ग पर युवा चले जायें, वही मार्ग, देश का मार्ग है और अब यही 21वीं सदी का मंत्र भी है।




मोदी ने उत्तर प्रदेश के मेरठ में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास करते हुये कहा कि 21वीं सदी का मंत्र है ‘‘युवाजनों येन गत: सपंथा।’’ अर्थात जिस मार्ग पर युवा बढ़ जायें, वही सही मार्ग है। उन्होंने कहा, ‘‘आज जिधर युवा चलेगा उधर भारत चलेगा और जिधर भारत चलेगा, उधर ही दुनिया चलने को मजबूर होती है।’’

इससे पहले मोदी ने मेरठ के सलावा में 700 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के अलावा केन्द्र और राज्य सरकार के अनेक मंत्री एवं जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।

मोदी ने आज सुबह दिल्ली में कोहरे के कारण मेरठ पहुंचने के लिये हवाई मार्ग के बजाय सबको चौंकाते हुये सड़क मार्ग द्वारा दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे से जाने का फैसला किया। यहां पहुंचने पर उन्होंने काली पलटन मंदिर में औघड़नाथ भगवान के दर्शन किये।

इसके बाद उन्होंने मेरठ कैंट स्थित शहीद स्मारक जाकर 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के गवाह रहे शहीद स्मारक पर अमर जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने लगभग 25 मिनट तक यहां रुकने के दौरान स्वतंत्रता संग्राम संग्राहलय में पहले स्वाधीनता संग्राम की झांकियों और चित्रों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

मेरठ के इतिहास के जुड़ी प्रदर्शनी को देखा

इसके बाद मोदी ने यहां से लगभग 32 किमी दूर सलावा गांव में बनने वाले मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। कार्यक्रम स्थल पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि मेरठ में खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास करने के लिये प्रधानमंत्री मोदी, ‘विजिविलिटी’ कम होने के कारण हवाई मार्ग के बजाय सड़क मार्ग से मेरठ पहुंचे हैं।

यह खेल, शिक्षा एवं विकास कार्यों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। योगी ने कहा कि मेरठ खेलों के सामान और उपकरणों के उत्पादन केन्द्र के रूप में जाना जाता है। इसी के फलस्वरूप इस क्षेत्र में खेल भावना को समझते हुए प्रधानमंत्री के निर्देशन में खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास होने जा रहा है।




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ को 700 करोड़ की लागत से बनने वाले खेल विश्वविद्यालय की सौगात दी। सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। इससे पहले, पीएम ने यहां औघड़दानी की आराधना करने के बाद शहीदों को नमन किया। इसके बाद वह सलावा के लिए रवाना हुए। यहां पीएम ने खेल विश्वविद्यालय की नींव रखने से पहले खिलाड़ियों से संवाद किया।

मेजर ध्यान चंद की कर्मस्थली रहा है यह स्थान

पीएम मोदी ने कहा कि मेरठ, देश की महान संतान, मेजर ध्यान चंद जी की भी कर्मस्थली रहा है। कुछ महीने पहले केंद्र सरकार ने देश के सबसे बड़े खेल पुरस्कार का नाम दद्दा के नाम पर किया था। आज मेरठ की स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी मेजर ध्यान चंद जी को समर्पित की जा रही है। मेरठ और आसपास के इस क्षेत्र ने स्वतंत्र भारत को भी नई दिशा देने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

राष्ट्ररक्षा के लिए सीमा पर बलिदान हों या फिर खेल के मैदान में राष्ट्र के लिए सम्मान, राष्ट्रभक्ति की अलख को इस क्षेत्र ने प्रज्जवलित रखा है। पीएम मोदी ने शहर के रेवड़ी गज्जक, आभूषण, कपड़े, खेल के सामान, हथकरघा उद्योग का भी जिक्र किया। कहा कि अब दिल्ली की दूरी एक घंटे की रह गई है। अब गंगा एक्सप्रेस का जो काम होगा वह भी मेरठ से शुरू होगा।

मेरठ देश का पहला ऐसा शहर होगा जहां मेट्रो और रैपिड रेल एकसाथ दौड़ेगी। आईटी पार्क का भी लोकापर्ण हो चुका है। यहीं डबल स्पीड, डबल इंजन की सरकार का उद्देश्य है कि विकास हो। कहा कि उधर हाथ लंबा करोगे तो योगी और इधर हाथ लंबा करोगे तो दिल्ली में मैं हूं। विकास की गति को आगे बढ़ाना है, तो नए जोश के साथ आगे बढ़ेंगे। उन्होंने युवाओं को खेल विश्विद्यालय के शिलान्यास की बधाई देकर अपने शब्दों को विराम दिया। अंत में पीएम मोदी ने जनता से ‘वंदे मातरम’ के नारे भी लगवाए।

मोदी की कसरत का वीडियो हो गया वायरस, देखें वीडियो

मेरठ में इस स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स पहुंचे पीएम मोदी ने यहां पर मौजूद जिम का दौरा किया और खुद भी जिम में एक्सरसाइज करने लगे। प्रधानमंत्री ने जिम करने के अलावा इन जिम मशीनों का जायजा लिया। पीएम मोदी ने यहां फिट इंडिया की मिसाल पेश की। प्रधानमंत्री का ये वर्कआउट वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: