Press "Enter" to skip to content

मोदी सुशासन के शिखर पर पहुंचे: पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर







मुंबई : मोदी की सराहना  पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सुशासन और विकास के ‘शिखर’ पर पहुंचने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि भारतीय जनता पाटी (भाजपा) नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार (राजग) सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार और कदाचार लगभग खत्म हो गया क्योंकि आधार और पैन कार्ड सभी सरकारी विभागों से जुड़े हुए हैं।

श्री जावड़ेकर ने कहा कि मोदी सरकार ने मौजूद महामारी के बीच कई उपायों के साथ विपक्ष और विश्व को बताया है कि सुशासन क्या होता है। प्रधानमंत्री पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पथ पर चल रहे हैं और उन्होंने सुशासन और विकास को शिखर पर पहुंचाया है। पूरे देश में नए हवाई अड्डों को निर्माण किया जा रहा है और सुरक्षा कारणों के देखते हुए राजमार्गों पर विमानों के उतरना संभव हुआ है। श्री जावड़ेकर नासिक में सुशासन दिवस कार्यक्रम में बोल रहे थे। पूर्व मंत्री ने कहा आधार और पैन कार्ड सभी सरकारी विभागों से जुड़े होने के कारण भ्रष्टाचार और कदाचार लगभग बंद हो गए हैं।

मोदी अटल बिहारी वाजपेयी के पथ पर चल रहे

मोदी अटल बिहारी वाजपेयी के पथ पर चल रहे डिजिटल क्रांति के कारण प्रतिदिन 15 करोड़ डिजिटल लेनेदेन होते हैं। उन्होंने कहा कि देश ने 140 करोड़ टीकाकरण पूरे कर लिए हैं, दो टीके विकसित किए हैं और यहां तक कि अपने घरेलू टीकों के साथ अन्य देशों की भी मदद की है। उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा ने विपक्ष और दुनिया को दिखाया कि सुशासन क्या होता है।

सरकार ने मुश्किल समय में लोगों को आपातकालीन चिकित्सा आपूर्ति, आॅक्सीजन, चिकित्सा सेवाएं मुफ्त भोजन और यहां तक कि गैस सिलेंडर भी प्रदान किए। किसानों-मजदूरों के सीधे बैंक खातों में सीधे पैसे पहुंचे हैं।’’ श्री जावड़ेकर ने कहा कि आज हम जिस डिजिटल इंडिया को देख रहे हैं उसकी शुरुआत मोबाइल से हुई थी और 16 रुपये प्रति मिनट से लेकर आज की फ्री इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल तक की क्रांति के जनक का श्रेय श्री वाजपेयी को जाता है। उन्होंने कहा कि आज देश में कम से कम 140 करोड़ मोबाइल धारक हैं। इसके अलावा श्री वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान विमानन क्षेत्र के विस्तार के लिए बुनियादी ढांचे की योजना बनाई गई थी।

 



More from महाराष्ट्रMore posts in महाराष्ट्र »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: