ईमान से टैक्स भरने वालों को मोदी सरकार द्वारा विशेष सम्मान की योजना, जाने क्या………………

टैक्सपेयर को मिलेगा फ़ायदा

नई दिल्ली : ईमान से टैक्स भरने वालों को मोदी सरकार द्वारा विशेष सम्मान की योजना की जा रही है।

मोदी सरकार देश के ईमानदार टैक्सपेयर्स को सम्मानित करने के लिए एक विशेष योजना बना रही है।

जहाँ इमानदार टैक्सपेयर्स का सरकार विशेष ध्यान रखेगी और विभिन्न तरह से सम्मान का हिस्सा बनाएगी।

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अंतर्गत एक कमेटी का गठन किया है।

जो इस मामले में अपनी रिपोर्ट देगी।

सरकार के इस कदम का उद्देश्य टैक्सपेयर और सरकार के बीच विश्वास बढ़ाना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ईमानदार करदाताओं को कभी भी परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के 167 परिवीक्षाधीन (प्रोबेशनर्स) अधिकारियों के साथ बातचीत करते हुए

मोदी ने उनसे काम के वक्त भरोसे का भाव रखने और मानवीय दृष्टिकोण अपनाने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कानून को मानने वाले लोगों की संख्या बहुत अधिक है

और वे लोग देशहित में कानून का पालन करना चाहते हैं।

एक सरकारी बयान में कहा गया है, उन्होंने कहा कि सरकार की राजस्व नीति को लागू करने के दौरान

अपने कर्तव्य निर्वहन के क्रम में भी ईमानदार करदाता परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

इन अधिकारियों के सिलसिलेवार ढंग से किए गए सवालों का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि

अधिकारियों को यह निश्चित रूप से महसूस करना चाहिए कि प्रत्येक नागरिक उसके परिवार का सदस्य है।

यदि यह भाव रहेगा तो अधिकारी थके हुए नहीं महसूस करेंगे।

मोदी ने 45 मिनट तक चली इस बातचीत में अपने जीवन और राजनीतिक अनुभव से जुड़े कई किस्से सुनाए।

इनका मकसद इन अधिकारियों को संवेदनशील एवं मानवीय दृष्टिकोण अपनाने के महत्व को समझाना था।

विभिन्न फायेदों का विवरण-

योजना के तहत ईमानदार टैक्सपेयर को राज्यों के गवर्नर के साथ चाय पीने का मौका दिया जा सकता है।

एयरपोर्ट चेकइन करने में छूट दी जा सकती है।

एयरपोर्ट पर लॉज के एक्सेस में छूट मिल सकती है।

पासपोर्ट में प्राथमिकता दी जा सकती है।

साथ ही डेडीकेटेड टोल लेन में छूट देने के बारे में विचार किया जा रहा है।

योजना का आरम्भ-

गौरतलब है की यह योजना सरकार द्वारा 2004 में लागू की गयी थी

जो आयकर विभाग की टैक्सपेयर्स को सम्मान की योजना थी।

जिसमें टैक्सपेयर्स को रिवॉर्ड दिया जाता था।

लेकिन 2004 के बाद इसे बंद कर दिया गया।

इसी बीच सरकार काले धन और बेनामी संपत्ति के लिए कानून लेकर आई।

ऐसे में ईमानदार टैक्सपेयर में भरोसा कायम करने को लेकर सरकार दोबारा इस योजना को शुरू करने जा रही है।

ईनाम देने वाले देश-

जापान, फिलीपिंस और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में टैक्स भरने वालों का सम्मान किया जाता है।

जापान में इस तरह के टैक्सपेयर का वहां के राजा के साथ फोटो खिंचवाया जाता है।

दक्षिण कोरिया में ईमानदार टैक्सपेयर्स को एयरपोर्ट पर VIP कमरे और फ्री पार्किंग की सुविधा मिलती है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.