fbpx Press "Enter" to skip to content

अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए मोदी सरकार ने खोला खजाना : रिजवी







जौनपुरः अल्पसंख्यकों के उत्थान के बारे में राष्ट्रीय अल्प संख्यक आयोग के चेयरमैन गयुरुल हसन रिजवी ने
कहा है कि इसके प्रति मोदी सरकार गंभीर है और समुदाय के लिये करोड़ों रूपये की कई कल्याणकारी योजनायें
शुरू की हैं।

श्री रिजवी ने शनिवार देर शाम पीजी कालेज में ‘साम्प्रदायिक एक पर आयोजित गोष्ठी’ में शिरकत करने के बाद
पत्रकारो से बातचीत में दावा किया कि मोदी सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के लिये खजाना खोल दिया है।

सरकार समाज के इस वर्ग को पढ़ाई, लिखाई, रोजगार और समाज के मुख्यधारा से जोड़ने के लिए पूरा प्रयास
कर रही है। पिछली सरकारो में बैठे लोग केवल जुबानी उत्थान करने की बात करते थे लेकिन जमीन पर कुछ
नही होता था।

उन्होने कहा कि सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान समाज के अल्पसंख्यक समुदायों के लिए कई नई
कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। ‘नई मंजिल’ औपचारिक स्कूल शिक्षा और स्­कूल छोड़ चुके बच्चों के
कौशल विकास की एक योजना है।

अल्पसंख्यकों के विकास के लिए पारंपरिक कला व हस्तशिल्प में कौशल उन्­नयन और प्रशिक्षण के लिए
यूएसटीटीएडी योजना है। इस योजना के तहत वर्ष 2016-17 से पारंपरिक कला व हस्तशिल्प, रोजगार
सृजन और बाजार से संपर्क साधने को बढ़ावा देने के लिए हुनर हाट का आयोजन किया जा रहा है।

वर्ष 2017-18 तक हुनर हाट का सफलतापूर्वक आयोजन होता रहा है। वर्ष 2018-19 में 7 हुनर हाटों का
आयोजन प्रस्तावित है। चेयरमैन ने कहा कि भारतीय संस्­कृति के संदर्भ में अल्पसंख्यक समुदायों की समृद्ध
विरासत के संरक्षण के लिए ‘हमारी धरोहर’ योजना चलाई जा रही है। ‘

अल्पसंख्यकों के लिए गरीब नवाज कौशल विकास प्रशिक्षण’ केन्द्र द्वारा अधिसूचित छह अल्पसंख्यक समुदायों
मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध, पारसी और जैन से जुड़े युवाओं के लिए रोजगारपरक अल्पावधि कौशल विकास
पाठ्यक्रम उपलब्ध कराने की योजना है।

अल्पसंख्यकों के उत्थान हेतु कई योजनाएं लागू की गयी हैं

यह योजना मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन के जरिए लागू की जाती है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय
ने नई मंजिल योजना के तहत मदरसों के छात्रों और स्कूल छोड़ चुके बच्चों के लिए ब्रिज कोर्स शुरू किया है जिसे
अलीगढ़ मुस्लिम युनिसर्विटी, अलीगढ़ और जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली में चलाया जा रहा है।

इस योजना के लिए मोहम्मद हसन पीजी कालेज जौनपुर का चयन किया जा रहा है जल्द ही इस स्कूल में भी
मदरसों के छात्रों और स्कूल छोड़ चुके बच्चों की शिक्षा का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी। स्वच्छ विद्यालय
योजना मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन द्वारा चलाया जा रहा है। इस अवसर पर कालेज के प्राचार्य
डॉ अब्दुल कादिर सहित अनेक लोग मौजूद रहे।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply