fbpx Press "Enter" to skip to content

मोबाइल फोन सेवा के टैरिफ बढ़ने की संभावना क्षीण

नयी दिल्लीः मोबाइल फोन सेवा के टैरिफ अभी बढ़ने की कोई उम्मीद नहीं।

प्रमुख मोबाइल फोन सेवा प्रदाता कंपनियों में एक दूसरे को अपनी ओर

आकर्षित करने के लिए लगातार नये प्लानों को देखते हुए निकट भविष्य में टैरिफ बढ़ने की संभावना क्षीण है।

मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो, वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल अपने ग्राहकों को साथ बनाये रखने के लिए

लगातार आकर्षक प्लान ला रहे हैं। इसे देखते हुए दूरसंचार क्षेत्र में ‘प्राइस वार’ जारी रह सकता है।

तीन साल पहले मोबाइल सेवा के क्षेत्र में कदम रखने वाली रिलायंस जियो ने आक्रामक नीति के साथ

ग्राहक अपने साथ जोड़े हैं। आने वाले महीनों में भी उसके इस ओर अग्रसर रहने की प्रबल संभावना है।

रिलायंस जियो ने हाल ही में अपने जियो फोन की कीमतों में कटौती कर इस आक्रामक नीति के संकेत भी दे दिया।

कंपनी ने 1500 रुपए वाला जियो फोन मात्र 699 रुपए में उपलब्ध कराने का एलान किया है।

कंपनी को उम्मीद है कि इससे 2 जी फोन सेवा के ग्राहक उसके साथ तेजी से जुड़ेंगे।

एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया के 2 जी के ग्राहकों को रिलायंस जियो अपने साथ जोड़ने के लिए

पैनी नजर गड़ाये हुए है। रेंटिंग एजेंसी क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट के अनुसार

रिलायंस जियो लगातार जियो फोन के दामों में कमी कर रहा है

जिससे निकट भविष्य में मोबाइल टैरिफ के बढ़ने की संभावना लगभग क्षीण हो गई है।

गौरतलब है कि जियो ने दिवाली आफर के तहत जियोफोन का दाम 1500 रुपए से घटाकर 699 रुपए कर दिया है।

इसके साथ ही अब पुराने फोन को बदलने की शर्त को भी हटा दिया गया।

इसके साथ ही अगले सात बार रिचार्ज पर ग्राहक को 700 रुपए का डेटा लाभ भी मिलेगा जो आधा जीबी रोजाना होगा।

मोबाइल फोन में जियो ने तीन साल में 34 करोड़ ग्राहक बनाये

तीन वर्षों के दौरान करीब 34 करोड़ मोबाइल फोन ग्राहक जोड़ लेने वाली रिलायंस जियो का पूरा जोर अपना ग्राहक आधार बढ़ाने पर।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने इस वर्ष आम बैठक में किफायती, गुणवत्ता वाला डेटा और बेहतरीन 4 जी नेटवर्क के वायदे के साथ ग्राहक बढ़ाने पर विशेष जोर दिया था।

जियो का कहना है कि ग्राहक आधार के मामले में वह देश की सबसे बड़ी कंपनी है

और अपने ग्राहकों का आंकड़ा 50 करोड़ पहुंचाने का उसका लक्ष्य है।

क्रेडिट सुइस के मुताबकि देश में स्मार्टफोन की कुल संख्या के करीब 48 प्रतिशत के बराबर फीचर फोन हैं।

फीचर फोन का इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग 2 जी नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं।

अनुसंधान और निवेश एजेंसी एमके ग्लोबल के अनुसार एयरटेल के 2 जी नेटवर्क पर जुड़े ग्राहकों की संख्या कंपनी के कुल ग्राहकों में करीब 42 प्रतिशत तक है।

वहीं वोडा आइडिया में यह 52 प्रतिशत है । देश में करीब 35 करोड़ ग्राहक 2 जी नेटवर्क सेवा से जुड़े हैं।

रेटिंग एजेंसी का मानना है कि यदि जियो अपने 4 जी फीचर फोन जियो फोन की

आक्रमक मार्केंटिंग करती तो एयरटेल और वोडा आइडिया के 2 जी ग्राहकों का टूटना लगभग निश्चित है

जिसका सीधा फायदा रिलायंस जियो को मिलेगा। एजेंसी यह भी मानती है कि

जियो के 4 जी फीचर फोन की प्रतिस्पर्धा में दोनों कंपनियों के कोई नयी पेशकश लाने की संभावना भी क्षीण नजर आती है।

ग्रामीण इलाकों में अब भी टू जी सेवा की धूम

देश के ग्रामीण अंचल में 2 जी मोबाइल सेवा के उपभोक्ताओं की संख्या अधिक है

और रिलायंस जियो को उम्मीद है कि इस क्षेत्र में उसके 4 जी नेटवर्क वाले जियो फोन की बिक्री में आने वाले महीनों में नयी पेशकश के साथ बड़ा इजाफा होगा।

सरकार भी ‘डिजिटल इंडिया’ के जरिये अधिक से अधिक गांवों को इंटरनेट से जोड़ने के प्रयास में जुटी हुई है

और इसके सार्थक परिणाम सामने भी आने लगे हैं।

ऐसे में एयरटेल और वोडा आइडिया के समक्ष अपने 2 जी ग्राहकों को जोड़े रखना बड़ी चुनौती साबित होगी।

रिलायंस जियो के 7 करोड़ ग्राहक जियोफोन प्लेटफार्म पर है

और कंपनी का मानना है कि हाल की पेशकश के बाद जियोफोन की मांग तेजी से निकलेगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!