fbpx Press "Enter" to skip to content

मनरेगा व खाद्य सुरक्षा कानून के कारण महान नेत्री साबित हुईं सोनिया गांधी : रामेश्वर उरांव

रांची : मनरेगा व खाद्य सुरक्षा कानून की अहमियत अब पूरे देश में महसूस की जा रही

है। कोरोना के वैश्विक संकट के काल में गरीबों के लिए यह दोनो ही कानून सबसे बड़े

सहारा बने हैं। यह विचार व्यक्त करते हुए झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और

राज्य के खाद्य आपूर्ति एवं वित्तमंत्री डा. रामेश्वर उरांव ने कहा है कि केंद्र की पूर्ववर्ती

यूपीए शासनकाल में महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, मनरेगा और राष्ट्रीय

खाद्य सुरक्षा कानून के कारण कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस सदी की महान नेत्री के

रूप में पूरे देश-दुनिया में स्थापित हुई हैं। डा. रामेश्वर उरांव ने कहा कि पारदर्शी सोच और

मार्गनिर्देशन में तत्कालीन केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार ने

मनरेगा और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून लागू करने का निर्णय लिया था। वैश्विक

महामारी कोरोना संकट के दौरान यदि ये दोनों कानून नहीं होते, तो स्थिति आज कितनी

खराब हो जाती, इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। दोनों ही योजनाओं की तब दुनिया भर

में सराहना हुई थी और परंतु सत्ता के नशे में चूर उस समय जो नेता इसे कांग्रेस पार्टी की

विफलता का स्मारक बता रहे थे, वे भी आज संकट की इस घड़ी में मनरेगा और खाद्य

सुरक्षा कानून के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने तथा

जरूरतमंद परिवारों को अनाज उपलब्ध कराने की बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि

निश्चित रूप से सोनिया गांधी का यह कथन भी सही है कि मुश्किल के इस क्षण में

रोजगार और भोजन के अधिकार पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।

मनरेगा व खाद्य सुरक्षा से ही साबित होती है दूरदर्शी सोच

पूरी प्रदेश कांग्रेस कमेटी और पार्टी का एक-एक कार्यकर्त्ता सोनिया गांधी की इस दूरदर्शी

सोच के प्रति आभार व्यक्त करता है और इस फैसले से दुनियाभर में सदी की सबसे बड़ी

नेत्री बनने के लिए बधाई देता है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. रामेश्वर उरांव और विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के

नेतृत्व में मनरेगा और खाद्य सुरक्षा कानून को प्रचारित और प्रसारित किया जा रहा है।

इन योजनाओं के माध्यम से हर गरीब परिवारों को अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है, वहीं

सभी जरूरतमंद परिवारों को रोजगार भी उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है। प्रदेश

कांग्रेस कमिटी प्रान्त में सोनिया गांधी के फैसले से कोरोना महामारी में देश को हो रहे

सहायता को लेकर पोस्टर, हैण्ड बिल, सोशल साइड व अन्य माध्यमों से प्रचारित प्रसारित

किया जाएगा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!