fbpx Press "Enter" to skip to content

मांस बिक्रेता बाकर मियां ने लॉकडाउन का किया खुला उल्लंघन

  • बकरा काट कर दुकान में बेचने में जुटा था कारोबारी

  • सूचना पर पुलिस पहुंची तो दुकान छोड़कर भाग निकला

  • ऐसे आरोपियों पर क्या नहीं चलेगा कानून का डंडा

बांध कथाराः मांस बिक्रेता बाकर मियां आज रंगे हाथ पुलिस द्वारा पकड़े गये पूरे देश में

जब कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन लागू है तो यह शख्स नियमों का

उल्लंघन कर अपनी दुकान खोल चुका था। देश में इस लॉकडाउन के दौरान आपात

जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त प्रबंध किये गये हैं। इसके तहत धीरे धीरे स्थिति को

नियंत्रित करते हुए अन्य दुकानों को भी एक निश्चित अवधि के लिए खोलने की इजाजत

भी दी जा रही है। सभी इलाकों में कमोबेश घर पहुंच सेवा भी प्रारंभ कर दी गयी है। इस

वायरस से देश को बचाने के लिए सरकार और तमाम आक्समिक सेवाओं से जुड़े लोग लगे

हुए हैं। ऐसी स्थिति में मांस बिक्रेता का यह आचरण लोगों को हैरान कर गया है। पुलिस

सख्ती के साथ सडकों, चौक चौराहों पर तैनात हो बे वजह घूमने वालो को खदेड़ने व विधि

व्यवस्था स्थापित करने मे लगी है। शुक्रवार की सुबह कथारा चौक पर मांस बिक्रेता

जिसका नाम बाकर मियां है, उसने एहतियात की धज्जियां उड़ा कर रख दिया और चुपके

चुपके दुकान के भीतर दो बकरे को काट उसकी मांस बेचने का काम चालू कर दिया।

मांस विक्रेता की हरकतों से स्थानीय लोग नाराज

इसकी सूचना स्थानीय लोगों के माध्यम से पत्रकार को मिलने के बाद पुलिस को इसकी

सूचना दी गयी। इस सूचना पर जब पुलिस वहां पहुंची तो पुलिस को आते देख दुकानदार

भाग निकला। लेकिन पुलिस के वहां पहुंचने पर इस बात की पुष्टि हो गयी कि वाकई मांस

बिक्रेता ने बकरा काटकर मांस बेचने का कारोबार चालू कर दिया था। दुकानदार के भाग

जाने के बाद पुलिस ने उक्त दुकान को सील कर दिया और मालिक की धरपकड़ तेज कर

दी। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित करने मे जान लगा

दी है। बहरहाल मामला कुछ भी हो मगर इस घटना ने साफ कर दिया है कि यहां के लोग

इस महामारी को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं। ऐसे दोषियो को तो ऐसी सबक मिलनी

चाहिए कि उसकी सात पीढ़ियां तक याद रखे। बताता चलू कि गांव में एक कहावत अक्सर

ऐसे ही लोगो के लिए ही कही जाती है कि थेथर बीन लतियैले नय बुझतो।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat