fbpx Press "Enter" to skip to content

बांग्लादेश से चुपचाप भारतीय सीमा में आया चीनी जासूस निकला

  • पहले भी बिना वीसा के भारत में कई  बार आया था

  • उसका एक सहयोगी लखनऊ में गिरफ्तार हुआ था

  • कई देशों के मोबाइल सीम और मुद्रा भी बरामद

राष्ट्रीय खबर

मालदाः बांग्लादेश से सुबह भारतीय सीमा में आये जिस व्यक्ति को सीमा सुरक्षा बल ने

गिरफ्तार किया था, वह चीन की किसी जासूसी संस्था का कर्मचारी होने के अलावा

आपराधिक रिकार्ड वाला है। बीएसएफ के साथ साथ स्थानीय पुलिस भी उससे पूछताछ

कर चुकी है। इस व्यक्ति के खिलाफ हरियाणा में भी भारतीय तथ्यों की छान बीन करने

और बिना वीसा के नेपाल होकर भारत में प्रवेश का मामला पहले से दर्ज है। आज

गोपालगंज पुलिस चौकी के माध्यम से उसे कालियाचक थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया

गया है। उससे एनआईए और एटीएस की टीम ने भी पूछताछ की है। संभव है कि कल उसे

अदालत में पेश किया जाएगा। लेकिन प्रारंभिक जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि चीन की

जासूसी संस्था, जो चीन की सेना के अधीन है, वह उससे जुड़ा हुआ है। गिरफ्तारी के वक्त

उसके पास से कई दस्तावेज भी बरामद किये गये थे, जिनकी जांच जारी है।

बांग्लादेश से इतनी सुबह आने के लिए होटल में रूका था

बीएसएफ ने आज औपचारिक तौर पर यह जानकारी दी है कि मिलिक सुलतानपुर के

इलाके से यह व्यक्ति भारतीय सीमा में बहुत सुबह प्रवेश कर रहा था। सीमा सुरक्षा बल

द्वारा चेतावनी दिये जाने के बाद उसने भाग जाने की भी कोशिश की थी। उसे गिरफ्तार

कर बीएसएफ के महीदपुर कैंप लाया गया था, जहां उससे सरकारी एजेंसी के अफसरों ने

पूछताछ की है। अब तक की जानकारी के मुताबिक यह व्यक्ति 2 तारीख को बांग्लादेश के

ढाका पहुंचा था। उस वक्त उसके साथ कोई दूसरा चीनी भी था। दस जून को वह भारतीय

सीमा के करीब सोना मसजिद के करीब आया था और वहां के एक होटल में रहने के बाद

चुपचाप भारत में प्रवेश करने की कोशिश में पकड़ा गया है। उसने बताया है कि वह इससे

पहले चार बार भारत आ चुका है। 2010 में वह हैदराबाद और दिल्ली के करीब गुड़गांव में

भी रहा है। 2019 में भारत में आने के बाद गुड़गांव के स्टार स्प्रिंग होटल में वह रुका था,

जहां उसके बाद कुछ और चीनी नागरिक भी वहां पहुंचे थे। उसके द्वारा दी गयी जानकारी

के मुताबिक उसके व्यापारिक साझेदार सान जियांग ने उसे कई भारतीय सीम उपलब्ध

कराये थे। लेकिन उसके बाद जियांग खुद लखनऊ में गिरफ्तार हो गया था। उसके पास से

एक लैपटॉप, दो आइफोन, एक बांग्लादेश का सीमा, एक भारतीय सीम, दो चीन का सीम,

दो पेन ड्राइव, एक बैटरी, दो छोटे टार्च, पैसा लेन देन करने की पांच मशीन, दो एटीएम

मास्टर कार्ड, कुछ अमेरिकी डालर के साथ साथ बांग्लादेशी मुद्रा और भारतीय रुपया भी

बरामद किया गया है।

शोभापुर इलाके में दस लाख के जाली नोट बरामद

मालदा के ही शोभापुर सीमा पर आज दस लाख रुपये के जाली नोट बरामद किये गये हैं।

वहां मौजूद लोग बीएसएफ को आते देख चुपचाप भाग निकले। जिसके बाद प्लास्टिक के

पैकेट मे रखा यह जाली नोट बरामद किया गया। सारे जाल नोट पांच सौ और दो हजार की

करेंसी हैं। भारत बांग्लादेश सीमा पर रात के अंधेरे में गश्त करती बीएसएफ की टुकड़ी को

कुछ हलचल देखकर संदेह हुआ था। उस तरफ आगे बढ़ने पर यह जाली नोट बरामद हुआ

जबकि अंधेरे का फायदा उठाकर बांग्लादेश से  वहां आये लोग भाग निकले। बीएसएफ के

मुताबिक जाली नोट के कारोबारी शायद खराब मौसम का लाभ उठाकर रात के अंधेरे में

यह काम करना चाहते थे। लेकिन इस मौसम में भी बीएसएफ की गश्त जारी होने के वजह

से उन्हें जाली नोट छोड़कर भाग जाना पड़ा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from चीनMore posts in चीन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: