fbpx Press "Enter" to skip to content

चुनाव आयोग के एक्शन के रियेक्शन में ममता का कोलकाता में धरना

  • भड़काऊ भाषण देने के मामले में चुनाव आयोग की कार्रवाई

  • पाबंदी के फैसले के विरोध में ममता बनर्जी का धरना जारी

  • पार्टी के किसी को वहां जाने की इजाजत नहीं दी गयी है

राष्ट्रीय खबर

कोलकाता : चुनाव आयोग के बारे यह कहा जा सकता है कि शायद पहली बार लोहे के चने

चबाने जैसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव

के चार चरण हो चुके हैं। वोटिंग के हर चरण के बाद राज्य की राजनीतिक सरगर्मी बढ़ती

जा रही है। इस बीच, चुनाव आयोग ने बड़ा कदम उठाते हुए अगले 24 घंटे तक पश्चिम

बंगाल की मुख्यममंत्री ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दिया था।

आयोग ने ममता बनर्जी को भड़काऊ भाषण देने के मामले में आरोपी माना है। साथ ही,

एक जनसभा में ममता ने हिंदू-मुस्लिम के आधार पर भी वोट मांगे थे। चुनाव आयोग के

निर्णय के विरोध करते हुए आज ममता दीदी अपने चुनाव प्रचार पर 24 घंटे के लिए पाबंदी

के विरोध में कोलकाता में धरने पर बैठीं हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल

कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी, उनके चुनाव प्रचार करने पर 24 घंटे के लिए पाबंदी लगाए

जाने के निर्वाचन आयोग के अंसवैधानिक फैसले के विरोध में मंगलवार को शहर के बीचों-

बीच धरने पर बैठ गईं। बनर्जी पिछले महीने चोटिल होने के कारण व्हीलचेयर पर बैठकर

पूर्वाह्न करीब 11 बजकर 40 मिनट पर यहां मायो सड़क पहुंचीं और उन्होंने परिसर में

महात्मा गांधी की प्रतिमा के निकट बैठकर धरना शुरू किया।

चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी को भड़काऊ भाषण देने के मामले में आरोपी माना है

इस दौरान तृणमूल के किसी  नेता या समर्थक को उनके पास नहीं देखा गया। इस संबंध

में सवाल किए जाने पर तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, प्रदर्शन स्थल के निकट

किसी पार्टी नेता को जाने की अनुमति नहीं हैं। वह वहां अकेली बैठी हैं।बनर्जी ने ट्वीट

किया था, चुनाव आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसले के विरोध में मैं कल

(मंगलवार) दिन में 12 बजे से कोलकाता में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठूंगी। तृणमूल

प्रमुख मंगलवार को रात आठ बजे के बाद बारासात और बिधाननगर में दो रैलियों को

संबोधित करेंगी। इस बीच, यहां एक रक्षा अधिकारी ने कहा कि बनर्जी जहां धरना दे रही

हैं, वह क्षेत्र सेना का है और तृणमूल को इस कार्यक्रम के लिए अभी तक अनुमति नहीं

मिली है। रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘मैं सभी को सूचित करने के लिए यह बताना चाहता हूं कि

हमें अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए तृणमूल से आज (मंगलवार) नौ बजकर 40 मिनट पर

अर्जी मिली। इससे संबंधित प्रक्रिया अभी चल रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: