ममता ने अब दिल्ली अभियान की घोषणा कर दी

ममता ने कोलकाता के बाद अब दिल्ली अभियान की घोषणा कर दी
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • अदालत की राय आने के बाद धरनास्थल पर उत्सव का माहौल

  • धरनास्थल पर लगी थी लोगों की भारी भीड़

  • सामने टंगा था काला पर्दा पर लोग खड़े

  • चंद्रावाबू और तेजस्वी के साथ एक घंटे बैठक

विशेष प्रतिनिधि

कोलकाताः ममता बनर्जी ने भाजपा पर अपना हमला और तेज कर दिया है।

कोलकाता के मेट्रो चैनल के बाहर अपना धरना समाप्त करते ही

उन्होंने दिल्ली पर धावा बोलने की बात कही।

सुश्री बनर्जी ने कहा कि दिल्ली में यह दो दिवसीय धरना संभवतः अगले सप्ताह दिया जाएगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के कार्यक्रम का फैसला वह अकेले नहीं ले सकती हैं।

इसलिए अन्य दलों के नेताओं से सहमति लेने के बाद इसकी घोषणा की जाएगी।

आज शाम करीब छह बजे ममता ने अपना धरना समाप्त करने की घोषणा की।

उससे पहले टीडीपी नेता चंद्रावाबू नायडू और राजद नेता तेजस्वी यादव ने करीब एक घंटे तक उनसे बात की।

आज सुबह से धरनास्थल का माहौल काफी तनावपूर्ण था।

इस दौरान लगातार वहां बैठी ममता के लिए मंच पर सामने एक पर्दा टांग दिया गया था।

मंच के सामने काला पर्दा होने के बाद भी वहां काफी संख्या में लोग

न सिर्फ उन्हें देखने आये थे बल्कि उनमें से अनेक लोग धरनास्थल

पर अपनी सेल्फी लेने में भी व्यस्त थे।

सुबह नौ बजे करीब पर्दा हटाने के बाद लोगों को ममता बनर्जी को देखने का मौका मिला।

तब भी सुश्री बनर्जी के चेहरे पर तनाव साफ झलक रहा था।

इसे वहां मौजूद आम लोगों ने भी महसूस किया।

दिन के करीब 11 बजे सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आते ही पूरा माहौल बदल गया।

खुद ममता के चेहरे पर मुस्कुराहट आने के साथ साथ धरनास्थल पर उत्सव जैसी स्थिति बन गयी।

पिछले 38 घंटे से चल रहा तनाव इस अदालती फैसले से समाप्त होने के बाद ममता बनर्जी अपने नजदीकी लोगों से बात करने में व्यस्त हो गयीं।

वहां पर ऐसी स्थिति शाम छह बजे तक जारी रही।

इसके बाद ही ममता ने धरना समाप्त करने की घोषणा की।

ममता ने राजनाथ सिंह की भी मंच से आलोचना की

उन्होंने कहा कि दिल्ली के आंदोलन के मुद्दे पर श्री नायडू और तेजस्वी से बात हुई है ।

लेकिन हमलोगों के साथ अन्य नेता भी हैं।

इसलिए सबकी राय से दिल्ली के आंदोलन का कार्यक्रम तय किया जाएगा।

दिल्ली में यह कार्यक्रम संभवतः 14 और 15 फरवरी को होगा।

इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्री को भी आड़े हाथों लिया।

उन्होंने कहा कि शायद गृह मंत्रालय ने राजीव कुमार जैसे आइपीएस अफसर के यहां धरनास्थल पर मौजूद होने पर आपत्ति की है।

उन्होंने कहा कि धरना मंच पर कोलकाता के पुलिस आयुक्त कभी भी नहीं आये।

इसलिए भाजपा का इस किस्म के कुप्रचार का जमाना अब बीत चुका है।

जनता पर इस किस्म के अफवाहों का अब कोई असर नहीं होने वाला है।

लेकिन उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की चिट्टी का जवाब राज्य सरकार अवश्य देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.