fbpx Press "Enter" to skip to content

ममता बनर्जी को स्वीकार नहीं नागरिकता कानून (एनआरसी), इसके खिलाफ जेल जाने को है तैयार

कलकत्ता : पश्चीम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नागरिकता कानुन के खिलाफ खड़ी है।

शुक्रवार को केन्द्र सरकार की आलोचना करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि इस कानून के खिलाफ में जेल जाने को भी तैयार है

पर पश्चीम बंगाल राज्य में किसी भी सुरत में नागरिकता कानून को लागु नहीं होने देंगी।

बल्कि इसके लिए अगर उन्हें जेल भी जाना पड़ा तो वो तत्पर रहेंगी।

बता दें कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस का संवाददाता सम्मेलन शुक्रवार को आयोजित हुआ था

जहां टीएमसी प्रमुख ने कहा कि भगवा पार्टी कानून को लागू करने के लिए राज्य को बाध्य नहीं कर सकती।

उन्होने कहा कि नागरिकता कानून भारत को विभाजित कर देगा और देश के टुकड़े हो जाएंगे।

अपनी सत्ता को दाव पर लगा देंगे पर राज्य के किसी भी व्यक्ति को देश नहीं छोड़ने देंगे।

पूर्वोत्तर राज्यों में हो रहे हिंसक विरोध से पहले ही देश सहमा हुआ है।

पर भाजपा अपनी नीति से न सिर्फ देश के लोगों को बल्कि देश को भी अलग-थलग कर देना चाहता है।

ममता ने कहा कि हम कभी भी बंगाल राज्य में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और नागरिकता कानून को लागु करने की अनुमति नहीं देंगे।

भले ही इस नीति को संसद ने पारित कर दिया है पर टीएमसी एकजुट होकर बंगाल में इसका साया भी नहीं पड़ने देगी।

उन्होने कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से जुड़े समारोह से संबंधित बैठक में शामिल होने के लिए प्रस्तावित दिल्ली यात्रा भी रद्य कर दी गई है।

वहीं इस मामले में जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे की प्रस्तावित असम यात्रा के बारे में ममता ने बताया,

कहा यह देश की इज्जत पर धब्बा होगा अगर शीन्जो आबे भारत की यात्रा इस कानून की वजह से रद्य कर देंगे।

हालांकि शीन्जो आबे ने पहले ही गुवाहाटी में हो रहे विरोध प्रदर्षन का जायजा लेते हुए अपनी यात्रा रद्य कर दी है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from देशMore posts in देश »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by