fbpx Press "Enter" to skip to content

महुदा गांव के चौकीदार की बेटी का शव पेड़ पर हत्या का आरोप

बोकारो: महुदा गांव के चौकीदार ऋषिकेश राय की 21 वर्षीय पुत्री अंजली कुमारी का शव

गुरुवार को रात करीब एक बजे संदिग्ध अवस्था में घर के महज दो सौ मीटर दूर एक

पलास के पेड़ से लटका पाया गया। घटना की सूचना पिंड्राजोरा पुलिस को दी गई। पुलिस

शुक्रवार सुबह शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चास अनुमंडल अस्पताल भेज

दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक अंजली कुमारी गुरूवार की रात अपनी दादी

निर्मला देवी के साथ सोयी हुई थी। रात को बारह से एक बजे के बीच नींद खुली तो उसकी

पौती बिस्तर पर नहीं मिली। इस बात की सूचना परिवार के सभी सदस्यों को दी। परिवार

के सदस्यों ने अंजली को इधर उधर ढुढ़ने लगे। घर के पीछे टर्च जलाया तो देखा कि

अंजली का शव पलाश के पेड़ में रस्सी के सहारे झुलता हुआ मिला। देखते ही पता चला कि

उसकी हत्या कर दी गई है। इस संबंध में मृतक के पिता ने पिंड्राजोरा थाना में मामला दर्ज

करवाया है। मृतक के पिता ऋषिकेश ने बताया मेरी बड़ी बेटी का देवर रितेश द्वारा बार-

बार अंजली के साथ शादी करने का दवाब बना रहा था। इसके साथ शादी नही हुई तो

अंजाम भुगतने की धमकी दिया कराता था। वहीं मृतक अंजली कुमारी की शादी

चंदनकियारी क्षेत्र के कुसुमकियारी गांव निवासी कुंदन सिंह के साथ तय हुआ था। जो 11

जुलाई को होने वाली थी। इसी बात से नाराज होकर रितेश ने घटना को अंजाम दिया।

महुदा गांव के चौकीदार की बेटी की नहीं हुई थी शादी

लड़की का पिता चौकीदार ऋषिकेश राय ने बताया कि मेरी मात्र दो पुत्री ही है। बड़ी पुत्री

कविता देवी की शादी पांच वर्ष पूर्व रानीपोखर गांव निवासी विकास सिंह के साथ हुई है।

इससे एक पुत्री व एक पुत्र भी है। कविता के ससुराल वालों ने छोटी पुत्री अंजली की शादी

रितेश के साथ करने का दवाब बनाया जा रहा था। ताकि मेरी सारी संपति का हिस्सा भी

दोनों भाई को ही मिले। जबकि छोटी बेटी की शादी दूसरे जगह होते देखते उनलोगों को

लगा कि अब हमलोगों को यहां संपति नहीं मिलेगी। इसलिए उसकी हत्या साजिश के

तहत कर दी गई।

हत्यारा ने मोबाईल को भी तोड़ दिया

पकड़े जाने के डर से हत्यारो ने अंजली का मोबाईल भी तोड़ दिया। मोबाईल का टूटा

हिस्सा घर के पीछे बना शौचालय के बगल से पाया गया। पुलिस मोबाईल पर लगा सिम

कार्ड को कब्जे में कर तहकीकात में जुट गई है। इस संबंध में लड़की का पिता ऋषिकेश

राय ने बताया की अंतिम संस्कार के बाद उन सभी लोगों पर प्राथमिकी दर्ज किया जाएगा।

मृतका की बड़ी बहन को भी दी जाती थी धमकी

गुरूवार को ऋषिकेश राय अपनी बड़ी बेटी कविता देवी को उसका ससुराल रानीपोखर लाने

गये थे। उस समय कविता का एकमात्र पुत्र को उसके सास ससुर व पति और देवर ने इस

शर्त पर बेटा को नहीं ले जाने दिया कि जब तक रितेश की शादी अंजली से नहीं होगी। तब

तक बेटा मेरे पास ही रहेगा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from महिलाMore posts in महिला »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!