fbpx Press "Enter" to skip to content

मध्य प्रदेश पुलिस का महकमा रंगीन मिजाज और दागी अफसरों से भरा 

  • पुलिसिंग शर्मसार और आशिक़ी गुलज़ार

  • पुरुषोत्तम जैसे कई है दिल फेंक विभाग में

  • हनी ट्रैप कांड में भी उनके फ्लैट की चर्चा थी

  • थानों में दर्ज शिकायत पर भी कार्रवाई नहीं होती

डॉ. नवीन जोशी

भोपालः मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय और उसमें तैनात भारी भरकम और दबंग पुलिस

अफसर अपनी काम वासना के चलते रोज सरेआम बेनक़ाब होते जा रहे हैं । एक-दो नहीं

दर्जनों ऐसे मामले उजागर हो चुके हैं जिसमें आईपीएस अपनी ब्याहता पत्नी को छोड़कर

कमसिन बालाओं के साथ रंगरेलिया मनाने को ही अपनी पुलिसिया बहादुरी दिखा रहे हैं।

इनकी चोरी और ऊपर से सीना जोरी की इससे बड़ी मिसाल और क्या होगी कि महिला

थाना,पुलिस कंट्रोल रूम,जाँच एजेंसिया भी इनकी करतूतों पर मौन हो जाती है ,

कार्यवाहियां लाल बस्ते में बंद कर दी जाती हैं। यहां तक कि पुलिस आफिसर्स मैस जैसे

सुरक्षित स्थान इन उम्र दराज अफसरों की रंगरेलियो के अड्डे बने हुए हैं। मामलों की

पड़ताल करें ,तो पुरुषोत्तम शर्मा जैसे कई अधिकारी निकल आएंगे, जिनकी हरकतों ने

पुलिसिंग को लजाया है,जिनसे घर, दफ़्तर और समाज के सभ्रांत लोग परेशान है।

हाल ही में सुर्ख़ियों में आए स्पेशल डी जी पुरुषोत्तम शर्मा का विवादों से नाता पुराना है।

खासकर यौन उत्पीड़न और घरेलू हिंसा उनके लिए कोई नई बात नहीं है । वर्ष 2008-09 में

पुरुषोत्तम शर्मा की धर्मपत्नी प्रिया शर्मा ने भोपाल के महिला थाने में मानसिक प्रताड़ना,

हिंसक यौन उत्पीड़न,और घरेलू हिंसा से संबंधित गंभीर शिकायत दर्ज कराई थी।

तत्कालीन महिला थाना प्रभारी सुनीता सुमो ने वरिष्ठ अधिकारियों के कहने पर देर रात्रि

में थाने पहुंची प्रिया शर्मा को समझा-बुझाकर घर लौटा दिया था और अगले दिन थाना

प्रभारी ने उपनिरीक्षक सीमा पटेल को साथ लेकर श्रीमती शर्मा के कथन लिए आगे की

कार्रवाई के लिये लिखा। मगर क्या हश्र हुआ यह अब तक अज्ञात है।

मध्य प्रदेश पुलिस ने पुराने मामलो की लीपापोती कर दी

इसके पहले श्रीमती चेतना शर्मा जो रिश्ते में पुरुषोत्तम शर्मा की भाभी थी, उन्होंने भी

महिला उत्पीड़न और पद के दुरुपयोग जैसे गंभीर प्रकरणों में शर्मा के विरुद्ध मामला दर्ज

कराया था। वर्ष 2015 -16 में जब पुरुषोत्तम शर्मा राज्य क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में पदस्थ थे

तब कंप्यूटर एवं अन्य उपकरण मनमाने तरीके से घटिया क्वालिटी के सेकंड हैंड खरीद

कर नये के नाम पर भुगतान कर दिया गया था, जिसमें पुरुषोत्तम शर्मा के साथ बी.

मारिया कुमार व अन्य संबंधितों के विरुद्ध ईओडब्ल्यू भोपाल में प्राथमिक जांच दर्ज हुई,

जांच में आरोप सही पाए गए। एफ आई आर दर्ज करने के आदेश हुए भी मगर मामला

वरिष्ठ अधिकारियों की सांठगांठ से दब गया। सिलसिला थमा नहीं साइबर सेल में

पदस्थापना के दौरान पुरुषोत्तम शर्मा ने फरीदाबाद में विशाल फ्लैट किराये पर ले लिया

,जिसमें ना तो शासन की अनुमति ली गई और ना तत्कालीन डीजीपी मध्य प्रदेश को

सूचित किया गया ।इसी दौरान उस फ्लैट में हनी ट्रैप में पकड़ी गई श्वेता जैन, बरखा

भटनागर सहित कई युवतियों के साथ शर्मा के रंगरलिया मनाने के प्रमाण मिले तो

सरकार ने इन्हें साइबर से हटा दिया। वहां से डायरेक्टर प्रॉसीक्यूशन बनाकर भेजे गए

उसके बाद भी इनकी करतूतें चलती रही और एक कम उम्र की टीवी एंकर के घर से 26

सितम्बर को रंगे हाथों पकड़े जाने तक रही। इन्हीं की बैच (1986)के एक अन्य अधिकारी

जो स्पेशल डीजी से सेवामुक्त हो गये,उन्हें भी रातों-रात ईओडब्ल्यू से इसीलिए हटाया

गया था क्योंकि उन्होंने भी अपने से आधी आयु की युवती को रखैल बना कर रखा लिया

था। गौरवी शाखा में उन पर भी प्रकरण बन चुका है।

अविभाजित मप्र का एडीजी अब रिटायर होकर फरार है

अविभाजित मध्यप्रदेश में उज्जैन में तैनात रहे एसपी मुकेश गुप्ता जो बाद में स्पेशल

डीजी छत्तीसगढ़ बने थे वह भी इसी तरह के प्रकरण में पहले डीजी से रिवर्ट होकर एडीजी

हुए और अब फरार चल रहे हैं । उन पर भी अपनी यौन पिपासा शांत करने के लिए एक

महिला डॉक्टर मिकी वाजपेई के साथ धार्मिक नगरी उज्जैन में अनैतिक संबंध स्थापित

करने और अवैध संतान पैदा करने के बाद रायपुर में हत्या करने का प्रकरण चल रहा है।

इन दिनों वे फरार बताए जाते हैं ।

एक और रंगीन मिजाज अफसर है, जो इंदौर में आईजी रहे,तब वहां की ऑफीसर्स मैस में

प्रियंका शर्मा (परिवर्तित नाम) को अपनी बहन बता कर पूरे वक्त उसका दैहिक शोषण

करते रहे । सूत्र यहां तक कहते हैं कि आईजी साहब उस महिला प्रेमिका को पुलिस की

गाड़ी में घूमाते थे और थाना प्रभारियों के खर्चे से शॉपिंग करवाने भेजते थे। एक इसी तरह

के और शौकीन अधिकारी रहें है जो ट्रांसपोर्ट कमिश्नर भी रहे, उन्होंने राजधानी भोपाल के

पॉश एरिया में एक अय्याशी का ठिकाना बना रखा था उसी में एक युवती की संदिग्ध

हालत में हत्या हो गई थी मामला रफादफा हो गया।

उज्जैन में आईजी रहे वरिष्ठ अधिकारी जो स्वयं अब स्पेशल डीजी भोपाल में पदस्थ हैं

,उन्होंने अपनी प्रोबेशनर महिला आईपीएस के साथ आफिसर्स मेस में ही अश्लील हरकत

कर दी थी। मामला खूब चर्चाओं में रहा और रातों-रात आईजी उज्जैन से हटा दिये गए।

देवास पुलिस अधीक्षक रहे चंद्रशेखर सोलंकी के विरुद्ध उन्हीं की महिला कांस्टेबल ने यौन

शोषण का मामला दर्ज कराया था मगर कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हुई ।

चंबल आई जी के पद पर रहते हुए लगे थे आरोप

चंबल आईजी रहते हुए वर्ष 1996-98 में आईपीएस अधिकारी वीके पंवार उर्फ टाइगर ने भी

गढ़वाली समाज की दो युवतियों के साथ अवैध रिश्ते बनाये, बाद में उन्हें परिवार और

समाज में लानतें सहना पड़ी, लेकिन वे भी स्पेशल डीजी के पद से रिटायर्ड होने तक सुधरे

नहीं ,लोकायुक्त में उन पर भ्रष्टाचार का प्रकरण भी प्रचलन में है।भोपाल में ही पदस्थ

पुरुषोत्तम शर्मा की बेच के एक अन्य अधिकारी जो डीजीपी होने की दौड़ में आगे चल रहे

हैं उन पर भी उनके साले की पत्नी ने मामला दर्ज करवा रखा है ,सुशांतलोक गुड़गांव की

अदालत से इन पर स्थाई गिरफ्तारी वारंट घूम रहा है।

कुछ जूनियर अधिकारी भी अपने बड़े अफ़सरो के नक्शे कदम पर चल रहें हैं ।वर्ष 2012 में

भोपाल में पदस्थ अनिल मिश्रा एआईजी सीआईडी ने जयपुर निवासी ज्योति शर्मा के साथ

मध्य प्रदेश की विभिन्न पुलिस आफिसर्स मेस में यौन शोषण किया और बाद में महिला

की शिकायत पर कार्रवाई हुई ,इस वक्त जोधपुर जेल की हवा खा रहे हैं।

एक अन्य अधिकारी डीएस सिरोलिया जो आईपीएस अवार्ड होते-होते रह गए उनके बारे में

भी कहा जाता है कि वो भी अपने इंद्रिय सुख के कारण ग्वालियर की एक होटल में महिला

के साथ रंगे हाथों पकड़ा गए और दंडित किए गए थे,न आईपीएस बन पाये, और इन

आरोपों की वजह से  मध्य प्रदेश पुलिस में में वो धमक रख सके।

कुल मिलाकर मध्य प्रदेश में आईपीएस अफसरों की दिल फेक अदाएं थमने का नाम नहीं

ले रही। अपनी दबंगई और रसूख की खुमारी में उनके अपने घर तो बर्बाद हो ही रहे हैं

पुलिस विभाग को भी बदनामी झेलना पड़ रही है , सोशल पुलिसिंग का सपना चकनाचूर

हुए जा रहा है और समाज थू-थू कर रहा है वह अलग। मगर क्या करें दिल है कि मानता

नहीं …??

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मध्यप्रदेशMore posts in मध्यप्रदेश »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »
More from विवादMore posts in विवाद »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!