fbpx Press "Enter" to skip to content

मधुबनी पुलिस को अब जाकर मिली बड़ी बड़ी कामयाबी

  • आपसी रंजिश एवं मछली मारने के विवाद में चली थी अंधाधुंध गोलियां

  • अपराधी कोई भी और कितना भी बड़ा हो, बख्शा नहीं जाएगाः एसपी

  • एक घायल अब भी गंभीर हालत में अस्पताल में दाखिल

  • गुप्त सूचना के आधार पर बिस्फी के रघौली से गिरफ्तारी

रितेश कुमार राय

मधुबनीः मधुबनी पुलिस को बुधवार की दोपहर बड़ी सफलता हाथ लगी है। महमदपुर

घटना के मुख्य आरोपी रावण सेना के कमांडर प्रवीण झा समेत चार लोगों को बिस्फी के

रघौली से चंदन झा, भोला सिंह ,मुकेश साफी कमलेश कुमार को प्रह्लाद महतो के द्वारा

प्रश्रय दिया गया था अर्द्ध निर्मित मकान में रह रहा था वहां से गुप्त सूचना के आधार पर

गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी की पुष्टि मधुबनी एसपी डॉ सत्य प्रकाश ने प्रेस

कॉन्फ्रेंस कर की है।

बताते चलें की दिनांक 29/3/ 2021 को होली के दिन दोपहर 1 बजे बेनीपट्टी के महमदपुर

गांव में तालाब में मछली मारने के पुराने विवाद एवं आपसी रंजिश के कारण होली के दिन

खून की होली खेली गई थी। अंधाधूंध गोलीबारी एवं लोहे की रॉड से मारपीट की घटना हुई

थी। जिसमें एक ही पिता के 3 पुत्र की निर्मम हत्या कर दी गई थी। सुरेंद्र सिंह के 3 पुत्र

विजय सिंह, वीरेंद्र कुमार सिंह उर्फ विरू सिंह और अमरेंद्र सिंह को गोली मारकर व पीट-

पीट कर बेरहमी से हत्या कर दिया गया था। इतना ही नहीं तेज नारायण सिंह के पुत्र राणा

प्रताप सिंह, राम नारायण सिंह के पुत्र मनोज सिंह को भी गोली मार कर हत्या कर दिया

गया था । एक मात्र जो गोलीबारी की घटना में गंभीर रूप से घायल होकर बच गया था

चंदेश्वर दास के पुत्र रूद्र नारायण दास को भी गोली लगी थी। उन्हें रड से मारा गया था।

जिसे सूचना मिलते ही इलाज के लिए मधुबनी अस्पताल लाया था पुलिस के द्वारा

जिसका इलाज अभी भी अस्पताल में जारी है। जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।

मधुबनी पुलिस ने वादी के बयान पर मामला दर्ज किया था

वादी राम नारायण सिंह पिता गंगाराम सिंह महमदपुर के फर्द बयान पर 35 लोगों को

नामजद एवं 10 से 12 अज्ञात लोगों को अभियुक्त बनाकर बेनीपट्टी थाना में कांड संख्या

67/21 धारा 147/ 148/ 149/ 341/ 323/ 324/ 325 /326 /307 /302/ 120 एवं शस्त्र

अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान शुरू की गई थी। घटना के बाद रावन

सेना के कमांडर व अन्य आरोपी फरार चल रहे थे। प्रवीण झा, नवीन झा समेत कई लोगों

के घर की कुर्की की गई। अब गिरफ्तारी हो चुकी है ऐसे में अब कुर्की नहीं होगी। बाकी बचे

आरोपी को भी शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसपी डॉ सत्य प्रकाश ने बताया कि

अपराधी कितना भी बड़ा क्यों ना हो, उसकी पहुंच कितना भी दूर तक क्यों ना हो, वह बच

नहीं सकता और बख्शा नहीं जाएगा।उन्होंने कहा कि आरोपियों को छुपाने के लिए आश्रय

देने वालों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। बताते

चलें इस घटना के बाद से बिहार सरकार और बिहार पुलिस बैकफुट पर आ गई थी। घटना

के बाद से पूरा बिहार हिल गया था। इतना ही नहीं देश के कोने-कोने में इस घटना की निंदा

हो रही थी। सरकार के गले का फांस बन गया था। लगातार तेजस्वी यादव सरकार पर

हमलावर हो रहे थे।

तेजस्वी ने इस मुद्दे पर सरकार पर हमला बोला था

इतना ही नहीं तेजस्वी यादव मंगलवार को महमदपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिलकर

शोक प्रकट किया था और मृतक परिवार के लोगों को 5-5 लाख रुपये का आर्थिक मदद के

तौर पर चेक भी दिया था। इसके बाद उन्होंने नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला,

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार के पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा इस घटना में संलिप्त हैं

उन्हीं के द्वारा इस घटना की स्क्रिप्ट लिखी गई। सही से जांच हो तो विधायक भी सलाखों

के पीछे होगा। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और 6 अपराधियों को 2 दिनों के अंदर

गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस कप्तान ने राहत की सांस ली और उन्होंने

कहा कि पुलिस घटना के 20 मिनट के अंदर ही घटनास्थल पर पहुंचे थे। और मृतक के

शव को गाड़ी से अस्पताल भेजा गया। फिर भी इस घटना में जो भी दोषी पाया जाएगा

बख्शा नहीं जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: