fbpx Press "Enter" to skip to content

मां काली की वर्चुअल महाआरती में शामिल हुये हजारों भक्त

  • राष्ट्रीय खबर

रांची: मां काली की वर्चुएल महाआरती में आज देश विदेश के अनेक भक्त शामिल हुए।

काली पूजा स्वागत समिति, हरमू रोड, रांची के तत्वावधान में आयोजित वर्चुअल

महाआरती में रांची के साथ-साथ झारखंड-बिहार के विभिन्न शहरों, कोलकाता, वर्दमान,

मिदनापुर, आसनसोल (बंगाल), असम के साथ-साथ बांग्लादेश, इंडोनेशिया, सं रा

अमेरिका और कई अन्य राज्यों और देशों से माँ काली के भक्तों ने भाग लिया। रविवार

शाम 7 बजे से शुरू हुई वर्चुअल महाआरती का यज्ञ अनुष्ठान आचार्य गणेश दत्त पाठक व

यजमान प्रणीक वर्मा ने किया। कोरोना नियंत्रण हेतु जारी शासकीय दिशा निर्देश के तहत

पूजा पंडाल में रीमा वर्मा के नेतृत्व में इस वर्ष सिर्फ 11 महिलाओं के समूह ने माँ की

महाआरती की। आयोजन का विवरण देते हुये काली पूजा स्वागत समिति, हरमू रोड,रांची

के संस्थापक अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी, झारखंड प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रेम

वर्मा ने बताया कि रांची समेत देश-विदेश के मां काली भक्तों ने श्रद्धा भाव से अपने-अपने

घरों से वर्चुअल महाआरती में भाग लिया। श्री वर्मा ने बताया कि काली पूजा स्वागत

समिति के मुख्य संरक्षक व सांसद सह झारखंड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश जी के

निर्देशानुसार कोरोना आपदा की वजह से जारी शासकीय पूजन दिशा-निर्देशों का

अनुपालन अक्षरशः सुनिश्चित किया गया। उन्होंने बताया कि विगत् 31 वर्षों से निरंतर

जारी काली पूजनोत्सव व महाआरती का आयोजन 32 वें आयोजन वर्ष में कोरोना संक्रमण

एहतियात के साथ किया गया।

पिछले वर्ष कुछ इस तरह की थी महाआरती

पूर्व में पूजा पंडाल के समक्ष 1101 माताओं-बहनों की सामूहिक उपस्थिति में आयोजित

होने वाली महाआरती कार्यक्रम को अगले वर्ष के आयोजन तक स्थगित कर 32 वें

स्थापना वर्ष आयोजन में वर्चुअल महाआरती का श्रद्धार्पण किया गया। काली पूजा स्वागत

समिति के सचिव अनिल माथुर, कोषाध्यक्ष रवि प्रकाश, मुकेश मुक्ता, संजय गुप्ता,रंजीत

गुप्ता, पप्पू वर्मा, प्रतीक वर्मा, सचिदानंद सोनी, अमित अग्रवाल,सन्नी वर्मा व अन्य

सदस्यों ने भक्तों के घर-घर जाकर कोरोना जागरुकता अभियान चलाया और वर्चुअल

महाआरती का लिंक उपलब्ध कराया। उसी लिंक के माध्यम से भक्तों और माँ का मिलन

साकार किया गया।भक्तों ने माँ काली की वर्चुअल आराधना कर कोरोना आपदा से मुक्ति

व विश्व कल्याण हेतु प्रार्थना की।

मां काली के आशीर्वाद वाली सिन्दूर की डिबिया का वितरण

कोरोना आपदा के मद्देनजर इस वर्ष महाभोग प्रसाद वितरण भी स्थगित रखा गया।

महाभोग के स्थान पर समिति के सदस्यों ने 11001 घरों में जाकर सुहागिन माँ-बहनों के

बीच माँ की पूजा में चढ़ी सिन्दूर की डिबिया माँ के आशीर्वाद स्वरूप वितरित किये।भक्तों

ने श्रद्धा भाव से माँ की अराधना कर कोरोना आपदा से मुक्ति और जगत् कल्याण की

प्रार्थना की। शनिवार मध्य रात्रि से शुरू हुये काली पूजनोत्सव का समापन सोमवार को

प्रातः 7 बजे हवन और अपराह्न 3 बजे माँ की पालकी विसर्जन यात्रा के साथ होगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from साइबरMore posts in साइबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: