fbpx Press "Enter" to skip to content

वित्त विधेयक पारित कर लोकसभा की कार्यवाही स्थगित

नयी दिल्ली: वित्त विधेयक, 2020 को बिना चर्चा के पारित करने के बाद लोकसभा के

बजट सत्र की कार्यवाही आज अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गयी। कोरोना

वायरस ‘कोविड-19’ के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सदन की कार्यवाही तय समय से

पहले समाप्त करनी पड़ी। बजट सत्र 31 जनवरी को शुरू हुआ था। इसका पहला चरण

11 फरवरी तक चला जिसमें वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया गया और बजट

पर आम चर्चा हुई। दूसरे चरण की शुरुआत दो मार्च से हुई और पहले तय कार्यक्रम के

अनुसार तीन अप्रैल तक बैठक होनी थी लेकिन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन

की कार्यवाही आज ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

उस समय सदन में मौजूद थे। संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि

सभी दलों के नेताओं के साथ आज सुबह हुई बैठक में यह सहमति बनी थी कि

‘‘असाधारण परिस्थितियों’’ को देखते हुये वित्त विधेयक को बिना चर्चा के पारित

किया जायेगा।

वित्त विधेयक के पहले से ही हो रही थी मांग

श्री बिरला ने वित्त बताया कि इस सत्र के दौरान सदन की कुल 23 बैठकों में 16

सरकारी विधेयक सदन के पटल पर रखे गये और 13 विधेयक पारित किये गये। सदन

ने देर रात तक बैठकर 21 घंटे 41 मिनट अतिरिक्त कामकाज किया और कुल 109 घंटे

23 मिनट काम हुआ। आम बजट रिपीट आम बजट पर 11 घंटे 51 मिनट चर्चा हुई।

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए रेल मंत्रालय से संबद्ध अनुदान मांगों पर 12 घंटे 31 मिनट,

सामाजिक न्याय एवं अधिकारित मंत्रालय की अनुदान मांगों पर पांच घंटे 21 मिनट

और पर्यटन मंत्रालय की अनुदान मांगों पर चार घंटे एक मिनट चर्चा हुई। अन्य

मंत्रालयों की अनुदान माँगों तथा सभी अनुदान मांगों से संबंधित विनियोग विधेयकों

को 16 मार्च को गिलोटीन के जरिये मंजूरी प्रदान की गयी। इस संबंध में कई

राजनीतिक दलों ने कोरोना से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए पहले ही इस सदन को

स्थगित करने की मांग की थी। विभिन्न इलाकों में घोषित लॉक डाउन के बाद अब इसे

अमल में लाया जा रहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by