fbpx Press "Enter" to skip to content

रांची के कई इलाकों में कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन का बन रहा मज़ाक

रांची : रांची के कई क्षेत्रों में लॉकडाउन का व्यापक असर देखने को मिल रहा है तो कई

जगह लोग इसका मज़ाक बना रहे है। ज्ञात हो कि इस वक़्त वैश्विक महामारी का प्रकोप न

सिर्फ विदेशों को झेलना पड़ रहा है बल्कि भारत भी इससे अछूता नहीं है। स्थिति दिन पर

दिन नाज़ुक ही होते जा रही है। कुछ लोग तो इसे समझ रहे है पर कई जगह लॉकडाउन को

लोगो ने मज़ाक बनाकर रख दिया है। जिसमें रांची के चुटिया इलाके सहित कई अन्य

इलाकों में देखने को मिल रहा है। जहां सिर्फ चुटिया में शुक्रवार को बाज़ारों में भीड़ देखी

गयी बल्कि इस भीड़ में लोग बिना किसी सतर्कता बरतते हुए व्यस्त दिखाई दिये। कई

दुकान जो सरकार की जरूरी सेवाओं में नहीं है फिर भी लोग खोल कर रखे थे। बच्चे दोस्तों

के साथ भ्रमण कर रहे थे, कई महिलाएं ग्रुप बनाकर एक साथ बाते कर रही थी। बाज़ारो में

लोगों की आवाजाही बनी हुई थी। जहां प्रशासन को शायद पता भी ना हो, लोग सरकार की

लॉकडाउन व्यवस्था का मज़ाक बनाते दिखाई दिये। हालांकि समझदारी सरकार की नहीं

बल्कि लोगों की होनी चाहिए कि दिन पर दिन कोरोना संबंधित केस में इजाफा ही देखा जा

रहा है, जो आने वाले वक़्त के लिए शुभ संकेत नहीं है। सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था सहित

अन्य सभी जरूरी व्यवस्थाएं बहाल करने में एक कदम भी पीछे नहीं हट रही पर जनता

इस क्षेत्र में अपना योगदान नहीं दे रहे है और घरों के बाहर निकालने में बाज़ नहीं आ रहे।

रांची में सतर्कता की कमी 

पीएम ने लॉकडाउन घोषित करने के वक़्त टीवी पर हाथ जोड़ कर जनता से 21 दिनों का

लॉकडाउन सफल बनाकर वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को जल्द से जल्द देश से

खत्म करने का संकल्प लिया था, जो लोगों की गलतियों व नसमझियों के कारण असफल

होता दिख रहा है। हालांकि झारखंड में अभी तक कोरोना संबंधित एक भी पॉज़िटिव केस

देखने को नहीं मिला है जो बहुत अच्छी खबर है पर अगर सतर्कता में ऐसे ही कमी आती

रही तो झारखंड भी इस बीमारी से अछूता नहीं रह जाएगा। रांची सहित अन्य क्षेत्रों में

प्रशासन को भी सख्ती से ध्यान देने की जरूरत है साथ ही जनता को खुद भी इटली, फ्रांस,

चीन आदि की स्थिति से कुछ सीख लेने की जरूरत है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat