fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉक डाउन के दौरान प्रशासन की तरफ से निराश्रितों का इंतजाम

दीपक नौरंगी

भागलपुरः लॉक डाउन के दौरान वैसे लोग जो रिक्शा चालक है ठेला चले गए जिनको खाने

की सुविधा नहीं है उसके लिए बिहार सरकार और जिला प्रशासन की ओर से भागलपुर

टीचर ट्रेनिंग के मैदान में 14 अप्रैल तक खाने और रहने तक की सुविधा की गयी है इसके

लिए देव बाबू धर्मशाला और दल्लू बाबू धर्मशाला में भी सुविधा की गयी है। जिला प्रशासन

की पहल से उनलोगों को राहत मिली है, जिनके पास इस संकट की घड़ी में कोई अपना

इंतजाम नहीं था। ऐसे लोगों को प्रशासन के द्वारा इस अस्थायी शिविर में लाने और उनके

दो वक्त की भोजन की व्यवस्था करने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है।

वीडियो में देखिये जिला प्रशासन का इंतजाम

भागलपुर के सीईओ सोनू भगत और आपदा विभाग के अधिकारी उप समाहर्ता विकास

कुमार करण इन दोनों अधिकारियों की देखरेख में भोजन और रहने का पूरा जिम्मा दिया

गया है। इन दोनों अधिकारियों की देखरेख में यह अस्थायी पड़ाव जैसा केंद्र सकुशल

संचालित हो रहा है। यहां आश्रय पाने वाले लोग भी इस अचानक की व्यवस्था से संतुष्ट

हैं। इस तैयारी के बारे में जानकारी देते हुए सोनू भगत ने बताया कि भागलपुर में करीब 15

से 20 लोग ऐसे थे जो साहिबगंज या बांका और मालदा जिनको जाना था और रात्रि में

भोजन करके सुबह टीचर ट्रेनिंग से प्रस्थान किए हैं भागलपुर सीईओ कहना है कि उनको

रोकने के लिए कहा गया था लेकिन भोजन करने के बाद वह चले गए हैं हो सके शाम तक

वह फिर आ सकते हैं।

लॉक डाउन के दौरान की व्यवस्था से आम नागरिक भी खुश

इसी तरह अन्य इलाकों से आकर भागलपुर में किन्हीं कारणों से फंसे लोगों की भी जिला

प्रशासन सुध ले रहा है। इस जिला प्रशासन की पहल को उन आम लोगों ने भी सराहा है,

जो लॉक डाउन के दौरान अपने अपने घरों में कैद हैं। ऐसे लोगों को भी बाहर इस तरीके से

उपेक्षित पड़े लोगों की चिंता है। इसलिए जिला प्रशासन की इस व्यवस्था से उन्हें भी संतोष

हुआ है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat