fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉकडाउन की खबर आने के बाद पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी

  • राष्ट्रीय खबर

भागलपुरः लॉकडाउन की खबर आने के  बाद बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ने की वजह से

वहां विधि व्यवस्था बहाल करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। इसके बाद

भी पुलिस ने धैर्य के साथ स्थिति को नियंत्रित किया और दुकानदारों को बार बार हिदायत

देकर लॉकडाउन की खबर आने के बाद लोगों को समझा बूझाकर वापस भेजा।

वीडियो में समझ लीजिए पुलिस ने कैसे नियंत्रित किया

ठीक इसी तरह लॉकडाउन की खबर ने सीतामढ़ी के लोगों को फिर से अराजक बना दिया।

स्थानीय सरावगी चौक का हाल देख कर ऐसा लग रहा था जैसे अभी के अभी सभी बाजार

बन्द हो जाएंगे,अभी के अभी अपना अपना सामान लो और खिसको । ना कोई नियम और

ना ही दूसरों के कष्ट से मतलब, कानून व्यवस्था को ताक पर रख कर लोग भागम भाग

के चक्कर मे सड़को पर ऐसा जाम लगा बैठे की उनका खुद का निकलना मुश्किल हो गया।

यही हाल सीतामढ़ी के सभी मुख्य सड़कों का रहा । सब से बड़ी बात यह है की नए ट्राफिक

नियम के अनुसार किसी भी भारी वाहन को सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक शहर में प्रवेश

नही करना है । इस ट्राफिक नियम को लागू करने के बाद शहर में प्रवेश करने वाली हर

जगह पर पुलिस को लगा दिया गया है । बावजूद इसके शहर में भारी वाहन का प्रवेश

करना चिंता का सबब बना हुआ है । आपको बता दे कि शहर ने प्रवेश होने वाले जगह जैसे

आजाद चौक,विश्वनाथपुर चौक ,जानकी स्थान,गोशाला चौक पे ट्राफिक पुलिस को

लगाया गया है ।फिर भी शहर में भारी वाहन प्रवेश कैसे हो जाता है ?

लॉकडाउन की खबर के बाद भागमभाग की हालत बनी

वही दूसरी ओर लॉकडाउन का जैसे एलान हुआ मानो की कोई भूकंप सा आ गया है जैसे

लोग भागम भाग कर रहे है ।एक तो लगन की खरीदारी उस पे से ईद की खरीदारी के लिए

लोगो की भीर देख ऐसा लग रहा था जैसे कोई दुनिया में बीमारी है ही नही,दुकान की

स्थिति तो ऐसी दिख थी थी मानो खड़े होने की भी जगह नहीं है । पूरे दिन शहर की स्थिति

कुछ ऐसी ही बनी रही ।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: