fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉक डाउन का फैसला अब झारखंड में भी लागू हुआ

  • मुख्यमंत्री की बैठक के बाद लिया गया फैसला

  • आपातकालीन सेवाओं को जारी रखा जाएगा

  • सार्वजनिक परिवहन के सारे माध्यम बंद

  • 31 मार्च तक के लिए लागू रहेगी व्यवस्था

रांचीः लॉक डाउन का फैसला अब झारखंड में भी लागू कर दिया गया है। राज्य में अब

तक कोरोना पीड़ित किसी रोगी की पुष्टि नहीं होने के बाद भी भारतीय परिदृश्य को

देखते हुए ऐसा फैसला लिया गया है। यह प्रतिबंध आगामी 31 मार्च तक लागू रखने की

जानकारी दी गयी है। वैसे स्पष्ट है कि स्थिति की समीक्षा करने के बाद इसे आगे भी

बढ़ाया जा सकता है। इस बारे में लॉक डाउन का फैसला लागू करने संबंधी अधिसूचना

सरकार की तरफ से जारी कर दी गयी है। राज्य के प्रधान सचिव डॉ नितिन मदन

कुलकर्णी के हस्ताक्षर से इस अधिसूचना जारी की गयी है। इसके तहत सरकार ने यह

स्पष्ट कर दिया है कि किन सेवाओं को नियमित काम करने की छूट दी गयी है। इस

लॉक डाउन के फैसले की प्रमुख बात यह भी है कि तमाम सरकारी कार्यालयों को

फिलहाल बंद रखने के आदेश के साथ साथ कर्मचारियों को अपने घर से ही काम करने

का निर्देश दिया गया है। साथ ही सरकार ने यह स्पष्ट हिदायत दी है कि इस अवधि में

किसी भी सरकारी कर्मचारी को अपना मुख्यालय छोड़ने की अनुमति नहीं होगी।

आवश्यकता पड़ने पर उन्हें तुरंत ही कार्यालय में उपस्थित भी होना है।

लॉक डाउन के आदेश से बाहर होगी आवश्यक सेवाएं

लॉक डाउन के इस फैसले के तहत विधि व्यवस्था, पुलिस, स्वास्थ्य, अग्निशमन, कारा,

राशन दुकान, बिजली एवं जलापूर्ति के साथ साथ नगरपालिका सेवाएं, बैंक, एटीएम,

मीडिया, टेलीकॉम और इंटरनेट सेवा, पोस्टल सेवा, खाद्य आपूर्ति से संबंधित सेवाएं.

दवा और चिकित्सा उपकरण, दैनंदिन भोजन के सामान, होम डिलेवरी रेस्तरां,

अस्पताल, पेट्रोल पंप, उत्पादन इकाई एवं सरकार की अनुमति से किसी अन्य सेवा को

इसकी तहत काम करने की छूट प्रदान कर दी गयी है। कोरोना की रोकथाम से जुड़े सभी

विभाग पूरी तरह खुले रहेंगे। सरकार के अपने फैसले में यह स्पष्ट कर दिया है कि इस

दौरान पांच या उससे अधिक लोगों का जमावड़ा अब प्रतिबंधित किया गया है। इन

नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी प्रावधान के तहत कार्रवाई की

जाएगी। इस आदेश में सभी संबंधित अधिकारियों को भी हिदायत दी गयी है कि किसी

संशय की स्थिति में वे सरकार से इस बारे में तुरंत दिशा निर्देश हासिल कर सकते हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by