fbpx Press "Enter" to skip to content

वामपंथी पार्टियों ने योगी सरकार का किया पुतला दहन

बोकारो: वामपंथी पार्टियों ने गुरुवार को हाथरस दुष्कर्म पीड़िता और उसके परिवार के प्रति

योगी सरकार की क्रूरता के खिलाफ नया मोड़ बिरसा चौक के पास प्रतिरोध सभा का

आयोजन कर योगी सरकार का पुतला दहन किया गया। इस अवसर पर वक्ताओं द्वारा

हाथरस में दलित दुष्कर्म पीड़िता और उसके परिवार को न्याय दिलाने से इनकार करने की

योगी सरकार की हठधर्मिता से भरी कार्रवाई की कड़ी निंदा की गयी। वक्ताओं ने कहा कि

दुष्कर्म पीड़िता की वेदना भरी दुखद मौत उत्तर प्रदेश सरकार के निरंकुश रवैया का

नतीजा है। पीड़िता के साथ 14 सितंबर को बर्बर बलात्कार और उसे गंभीर रूप से घायल

करने का अपराध करने वाले चार उच्च जाति के लोग थे, जिन्होंने पीड़िता की जीभ काट

ली। उसके शरीर की कई जगह की हड्डियों को तोड़ दिया। उसका रक्त स्राव होता रहा,

लेकिन पुलिस पांच दिनों तक प्राथमिकी दर्ज करने और पीड़िता का इलाज के लिए तुरंत

अस्पताल भेजने से इनकार करती रही, जिससे उसके जान बच सकती थी। पुलिस की

भूमिका उसके द्वारा जातिवादी क्रुरता को संरक्षण देने का प्रमाण है। इतना ही नहीं पुलिस

ने मृतक की लाश को भी उसके परिवार के हवाले करने से इंकार कर दिया और आधी रात

को उसका दाह संस्कार कर दिया। यह बर्बरता पूर्ण जाति आधारित दुष्कर्म का अपराध

भाजपा शासित राज्य उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के पूरी तरह ध्वस्त हो जाने को ही

प्रतिबिंबित करता, जहां भारतीय जनता पार्टी के संरक्षण में जातिवादी और प्रतिक्रियावादी

ताकतों द्वारा दलितों और महिलाओं के प्रति किए जा रहे अपराध की घटनाओं में भारी

बढ़ोतरी हुई है।

वामपंथी पार्टियों ने कहा आपराधिक रिकार्ड के आंकड़े दर्शा रहे हैं

जिसकी पुष्टि राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की हालिया रिपोर्ट में भी की गई है। वहीं 29

सितंबर को हाथरस से कुछ हीं दूरी पर एक दलित युवती के साथ दुष्कर्म के बाद इतनी

पिटाई की गई की पीड़िता की मौत दो दिनों के बाद हो गई। ऐसा लगता है की उत्तर प्रदेश

अपराध का प्रदेश बनकर रह गया है। वामपंथी पार्टियां मांग करती है कि दुष्कर्म के

दोषियों को कड़ी सजा देने के साथ-साथ उन पुलिसकर्मियों पर भी कड़ी कार्रवाई होनी

चाहिए। जिन्होंने एफआईआर दर्ज करने से इनकार किया था और वैसे प्रशासनिक लोगों

पर भी जिन्होंने बलपूर्वक और क्रूर तरीके का इस्तेमाल करते हुए मृतिका का दाह संस्कार

करवा दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पीके पांडेय ने किया। सभा को सीपीएम के बीडी

प्रसाद, आरके गोरांई, सीपीआई के स्वंयवर पासवान, भाकपा(माले) के देवदीप सिंह

दिवाकर, लोकनाथ सिंह, एसयूसीआई के मोहन चौधरी, आरएस शर्मा ने संबोधित किया।

सभा में सैकड़ों कार्यकर्ता सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए उपस्थित थे


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: