fbpx Press "Enter" to skip to content

वकीलों के संगठन ने अब तक नहीं चलाया विशेष राहत अभियान

  • रांची के हजारों अधिवक्ता भी भूखमरी के कगार पर

  •  कोर्ट में काम काज भी नाम मात्र का

  •  यहां की महिला वकील सब्जी बेच रही है

  •  कल्याण कोष से जरूरतमंदों की मदद की मांग

संवाददाता

रांचीः वकीलों के संगठन के सक्रिय नहीं होने की वजह से अनेक वकील परेशान हैं

रांची के हजारों अधिवक्ता इनदिनों भयानक संकट झेल रहे हैं। दरअसल कचहरी मे

काम काज नहीं के बराबर होने की वजह से इनका आमदनी भी बंद है। लगातार कोरोना

लॉक डाउन की वजह से इनमें से अधिकांश अब साधनहीन भी हो चुके हैं। इसके बीच

वकीलों के कई संगठनों की तरफ से इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं किये जाने पर भी

भुक्तभोगी वकील नाराज हैं। ऐसे लोगों की दलील है कि संगठन के पास जब कल्याण

कोष है तो उसे आखिर किस संकट के लिए बचाकर रखा जा रहा है। अगर संगठन आर्थिक

मदद नहीं कर सकता तो साधनहीन वकीलों के लिए राशन का इंतजाम तो कमसे कम कर

ही सकता है। वर्तमान में कचहरी में काम काज के नाम पर मामूली गतिविधियां ही

संचालित हो रही हैं। संक्रमण के भय से वकालत खाना के इलाके भी बंद है। ऐसी स्थिति में

ऑन लाइन काम से जुड़े हुए चंद अधिवक्ता ही कोर्ट की तरफ मुंह कर पा रहे हैं।

इस मामले की जानकारी लेने पर कई वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने इशारों ही इशारों में कहा कि

रांची में कार्यरत हजारों वकीलों में से दस प्रतिशत ही ऐसे होंगे, जो इतने दिनो की बंदी को

आर्थिक तौर पर झेलने के लिए सक्षम है। वरना अधिकांश वकील और खास कर युवा

वकील को हर दिन की कमाई पर अपने परिवार का भरण पोषण करने वाले हैं। ऐसे लोगों

की कमाई इतने दिनों से बंद होने के बाद अब कोर्ट में काम काज भी नाममात्र का हो रहा

है।

रांची के हजारों अधिवक्ता हर दिन की कमाई पर परिवार चलाते थे

इस क्रम में यह जानकारी दी गयी कि पारिवारिक जरूरतों को ध्यान में रखते हुए एक

महिला वकील इनदिनों सब्जी बेचने का भी काम कर रही है। कई वकीलों से उसकी

मुलाकात इस नये कारोबार के दौरान भी हुई है। इसी तरह कुछ अन्य वकील जहां कहीं भी

काम मिल रहा है, वह दैनिक काम कर रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी अधिकांश लोगों की

आवश्यकताओं की पूर्ति नहीं हो पा रही है। अधिकांश लोगों की राय है कि वकीलों के

संगठनो के पास जो कल्याण कोष है, कमसे से उससे भी ऐसे जरूरतमंद वकीलों की मदद

की जानी चाहिए।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!