fbpx Press "Enter" to skip to content

रोमांटिक अदाओं के फनकार ऋषि कपूर को अंतिम जोहार

  • कोरोना काल में कैंसर ने सिने वर्ल्ड के चमकते सिताने चिंटू को लील लिया

उदय चौहान

रांची : रोमांटिक अदाकार व नवाब इरफान खान जैसे दिग्गज फनकारों के जाने से

बॉलीवूड परिवार के साथ-साथ उनके फैंस को एक बड़ा झटका लगा है। बता दें कि बीते

बुधवार को कोरोना के दहशत के बीच फाकामस्त नवाब इरफान खान ने सिने वर्ल्ड से खुद

को अलविदा कह कर रूला दिया। वहीं, गुरुवार को रोमांटिक अदाकार ऋषि कपूर ने कैंसर

से लड़ते हुये दुनियां से नाता तोड़ दिया। इन दोनों खबरों ने सिने प्रेमियों को दु:ख व सदमें

में पहुंचा दिया है। इस दुख से उबरना इतना आसान भी नहीं होगा। हालांकि, विधि का क्रूर

विधान के आगे आम आदमी की हैसियत कुछ भी नहीं है। बावजूद इसके इन फनकारों ने

सिल्वर स्क्रीन पर जो यादों की महफिल सजायी है वो सदैव यादगार बनी रहेगी। इरफान

के चाहने वाले कयामत तक उसके रियलिस्टिक रोल को मॉडल के रूप में अपनायेंगे। वहीं,

मेरा नाम जोकर से सिनेमाई सफर में कदम रख कर शुरू करने वाले कपूर खानदान के

चश्मों-चिराग ऋषि कपूर का बॉबी, लैला मजनूं, प्रेम रोग, चांदनी, अमर-अकबर-एंथोनी,

जमाने को दिखाना है जैसी फिल्मों से दर्शकों के दिलों पर राज किया। इनके असामयिक

निधन से पूरा फिल्म इंडस्ट्री सदमे में है। ऋषि कपूर का निक नेम चिंटू था। देश भर के

उनके चहेते मर्माहत व गम में डूब गये। एक पर एक बड़े पर्दे के फनकार का जाना दुखद।

रोमांटिक अदाकर दो वर्षों से थे कैंसर पीड़ित

साल 2018 में ऋषि कपूर को पहली बार कैंसर का पता चला था। इसके बाद ऋषि लगभग

एक साल तक न्यूयॉर्क इलाजरत रहे। वह ठीक होने के बाद सितंबर 2019 में भारत लौटे

थे। गुरुवार को अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर कहा कि ऋषि कपूर ने दुनियां छोड़ दिया।

इस मनहूस खबर ने एकबारगी देशवासियों को गम के गर्त्त में धकेल दिया। राज कपूर की

फिल्म मेरा नाम जोकर से बॉलीवुड की दुनिया में अपना कदम रखा था। अपने डेब्यू रोल

के लिए ऋषि कपूर को नैशनल फिल्म अवॉर्ड से भी नवाजा गया था। इसके बाद वह फिल्म

बॉबी में नजर आए थे। इसमें उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर के अवॉर्ड से नवाजा गया था।

1973 से 2000 के बीच ऋषि कपूर ने करीब 92 फिल्मों में रोमांटिक एक्टर का किरदार

निभाया। इसमें से 36 फिल्म उनकी बॉक्स ऑफिस पर खूब हिट भी रही थी। साल 2000 के

बाद ऋषि कपूर अकसर सपोर्टिंग रोल्स में नजर आने लगे थे। ऋषि कपूर अपने जमाने के

चॉकलेटी व खुशमिजाजी हीरो के रूप में जाने जाते हैं। 2008 में ऋषि को फिल्म फेयर के

लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाजा गया। ऋषि कपूर उर्फ चिंटू को अंतिम जोहार!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from महाराष्ट्रMore posts in महाराष्ट्र »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat