fbpx Press "Enter" to skip to content

लापुंग पुलिस ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग के फरार आरोपी को धर दबोचा

लापुंगः लापुंग पुलिस ने ट्रैफिकिंग के मामले में फरार आरोपी मुरहू थाना क्षेत्र के गनालोया गांव की सालो देवी को

गिरफ्तार कर लिया है । गिरफ्तार सालो देवी को लापुंग पुलिस ने जेल भेज दिया । लापुंग थाना क्षेत्र के कांड संख्या

28/18 दिनांक 12.08.2018 भादवि की धारा 370, 371 और 120 बी के तहत सालो देवी के खिलाफ लापुंग थाना क्षेत्र

के बाकाकेरा गांव की दो लड़कियों को ठग फुसलाकर दिल्ली ले जाने का मामला दर्ज किया गया था ।

बताया जाता है कि बाकाकेरा की मरियम बारला और करिश्मा बारला को सालो देवी ने दिल्ली ले जाकर बेच दिया था ।

इस मामले में अभिभावकों की शिकायत पर लापुंग में 2018 में सालो देवी के खिलाफ नामजद मामला दर्ज

किया गया था ।

रथ यात्रा देखकर लौट रही युवतियों को ठग फुसलाकर मुरहू बुलाया और धोखे से दिल्ली भेज दिया ।

बाद में लापुंग पुलिस की मदद से लंबे समय बाद दिल्ली से युवतियों को छुड़ाया गया ।

पुलिस सूत्रों के अनुसार 2018 में रांची के जगन्नाथपुर से रथ यात्रा देखकर अमित बस से लापुंग वापस लौट रही

युवतियों को मोबाइल फोन के माध्यम से सालो देवी ने धोखा देकर मुरहू बुला लिया ।

दो दिन वहां रखने के बाद दोनों को दिल्ली से दीदी आ रही है बोलकर हटिया स्टेशन ले गयी

और उसी दीदी से मुलाकात करवा कर दोनों को धोखे से दिल्ली भेज दिया ।

वहां संतोष नामक एक युवक ने दोनों को कमरे में बंद कर दिया और उसकी मोबाइल छीन ली ।

दोनों से कहा गया कि तुम लोग को अब दिल्ली में ही रहना है और यहां काम करना है ।

लापुंग पुलिस को लड़कियों के चाचा ने दी थी जानकारी

भारी विरोध के बावजूद लंबे समय तक दोनों बंधक बनी रहे । एक बार अचानक युवतियों के हाथ उनके

मोबाइल लग गई उन्होंने दिल्ली में रहने वाले एक चाचा को फोन किया और अपनी स्थिति बतायी ।

उसके चाचा ने लापुंग पुलिस को फोन किया और मामले की जानकारी दी ।

बाद में लापुंग पुलिस की मदद से युवतियों को छुड़ा लिया गया ।

इसी मामले में सालो देवी की पुलिस को लंबे समय से तलाश थी ।

उसे गिरफ्तार कर ह्यूमन ट्रैफिकिंग के मामले में जेल भेज दिया ।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from रांचीMore posts in रांची »

3 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by