fbpx Press "Enter" to skip to content

चार्ज में लगा लैपटॉप बना आग का कारण, बाल बाल बचे लोग







नोएडा : चार्ज में लगा कर लैपटॉप या कोई अन्य डिवाइस या उपकरण लोग कभी कभी पूरी रात छोड़ देते है

जो कितना खतरनाक हो सकता है बस वही समझ सकता है जिसके साथ कुछ दुर्घटना घटती है.

ऐसा ही एक वाक़्या नोएडा के राजनगर एक्सटेंशन की रिवर हाईट सोसायटी के सातवें तल्ले पर हुई.

बता दें कि भुक्तभोगी का नाम राहुल कुमार है जो पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है जिसके फ्लैट में यह दुर्घटना हुई.

जानकारी के अनुसार राहुल ने अपना लैपटॉप रात में कार्य के दौरान चार्ज में लगा रखा था और वैसे ही वह चार्ज लगाकर दुसरे कमरे में सो गया.

जब सुबह उसकी नींद खुली तब लैपटॉप के साथ साथ कमरे के सारे सामान व बिस्तर जले हुए मिले.

मामले की जानकारी तब हुई जब राहुल ने बाथरूम से लॉबी के रास्ते बालकनी में जाकर शोर मचाया.

घटना की जानकारी

दरअसल राहुल नोएडा की सेक्टर-62 स्थित एक नेटवर्किंग बेस्ड कंपनी में इंजीनियर के तौर पर कार्यरत हैं.

जो रात में कार्य के दौरान अपने लैपटॉप पर काम करते हुए उसे स्लीप मोड में रखकर सो गए थे.

हालांकि उन्हें भी इस दुर्घटना की सुबह तक कोई खबर नही थी.

सुबह 8.30 बजे के आसपास जब धुआं उनके कमरे में फैलकर पहुंचा तो राहुल की नींद खुली.

धुएँ की स्थिती का जायजा लेने जब राहुल लैपटॉप वाले कमरे में पहुँचा तो देखा लैपटॉप जल रहा था.

जिसके साथ साथ घर की सारी सामान बिस्तर सब जल रहे थे.

हालांकि वो तो अच्छा हुआ कि उस कमरे में कोई था नहीं वरना क्या होता कोई सोच भी नहीं सकता.

राहुल ने तुरंत जानकारी गार्ड को दी और गार्ड ने फायर ब्रिगेड को बुलवाया.

फ़ायर ब्रिगेड आई और आग बुझाई, राहुल को सकुशल नीचे उतारा.

सूत्रों के अनुसार राहुल अपनी पत्नी के साथ में उस फ्लैट मैं रहता हैं

जो किसी दूसरे दफ़्तर में काम करती हैं और सुबह ही दफ़्तर जा चुकी थी.

चुंकि सूत्रों के अनुसार राहुल की पत्नी सुबह दफ्तर गई है तो यह तो साफ हो गया कि यह घटना सुबह के दौरान घटी है.

हालांकि इस मामले में जांच के बाद यह सुनिश्चित हो पाया है कि लगातार चार्जिंग में रहने से डीवाईस के बैट्री में आग लग गई थी.

जो इतने बड़े दुर्घटना का कारण बनी हालांकि किसी को चोट या कोई क्षति नहीं पहुंचा.



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply