fbpx Press "Enter" to skip to content

जमीन विवाद हिंसक होने की सूचनाएं लगातार रांची और आस पास से




  • कांके थाना क्षेत्र में फायरिंग की घटना

  • दोनों पक्षों के लोग हुए हैं इसमें घायल

  • जमीन के कारोबार में फंसा है काफी पैसा

संवाददाता

रांचीः जमीन विवाद पर अक्सर ही हथियारों के इस्तेमाल पर अब रांची पुलिस गंभीर है।

इस बारे में ग्रामीण एस पी ने प्रेस कांफ्रेंस कर कई घटनाओं का उदाहरण देते हुए पुलिस

द्वारा अतिरिक्त सतर्कता बरते जाने की भी जानकारी दी।

वीडियो में देखिये इस पर ग्रामीण एस पी ने क्या कहा

उन्होंने एक जमीन विवाद का उल्लेख भी किया। इस पर अदालत में मामला लंबित है।

एक पक्ष द्वारा वहां कुछ काम करने का दूसरे पक्ष द्वारा यह कहकर विरोध किया गया कि

अदालत का फैसला आने के पहले इस पर कोई काम नहीं किया जाए। इसी बात पर विवाद

बढ़ा तो पिस्टल से फायरिंग की गयी। दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट भी हुई। इसमें

दोनों पक्षों के लोग घायल भी हुए हैं। बाद में दोनों पक्षों की तरफ से एक दूसरे के खिलाफ

प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है। इस घटना में एसडीओ की तरफ से भी निषेधात्मक

कार्रवाई किये जाने की जानकारी ग्रामीण एसपी के द्वारा आज के प्रेस कांफ्रेंस में दी गयी

है।

जमीन विवाद में फायरिंग और मारपीट

पुलिस अधिकारी ने बताया है कि 26 अगस्त को वादी मुजीब अंसारी एवं रंपुल्ला अंसारी ने

कहा के थाना क्षेत्रों से निवासी में कांके थाना में लिखित आवेदन दिया और जिस में

उल्लेख किया कि वह अपने हिस्से की जमीन की मापी करा रहे थे तभी उसी क्रम में

मुजाहिद अंसारी एवं अन्य लोग पिस्टल एवं धारदार हथियार लाठी-डंडों से लैस होकर

उक्त जमीन पर पहुंचे और बोलने लगी थी आजा मेरी है इस बीच मुजाहिद अंसारी ने

अचानक पिस्टल निकालकर फायर कर दिया। धक्का देकर मुजाहिद अंसारी का हाथ

ऊपर कर दिये जाने के कारण गोली किसी को नहीं लगी। शाहिद अंसारी फिर फायर करना

चाहा तो रागीब अंसारी मुशाहिद के हाथ से छीन लिया उसके बाद शाहिद अंसारी के साथ

आए अन्य लोग धारदार हथियार एवं लाठी-डंडों से हमला कर दिया। लेकिन वहीं पर

चारदीवारी कर रहे लोगों की मदद से किसी तरह अंसारी को बचाया गया और शाहिद

अंसारी से छीना पिस्तौल को थाना वालों को दिया। ग्रामीणों ने बताया कि पुलिस छानबीन

कर रही है जांच पड़ताल के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा अभी एक और को

बरामद कर लिया गया है।

इसके पहले भी रांची और आस पास में हो चुकी है कई हत्याएं

इसके अलावा भी हाल के दिनों में जमीन के विवाद को लेकर कई हत्याएं भी हो चुकी हैं।

मारे गये लोगों मे कुछ राजनीतिक प्रभाव के लोग भी शामिल हैं। इन सभी मामलों को

ध्यान में रखते हुए पुलिस खास तौर पर ऐसे विवादों और संबंधित टकरावों को टालने के

लिहाज से विशेष नजरदारी बरत रही है। इसका एकमात्र मकसद जमीन विवाद के संबंध

में दो पक्षों के बीच होने वाले ऐसे किसी भी हिंसक टकराव को टालना है तथा विधि

व्यवस्था की स्थिति को हर हाल में बहाल रखना है।

दूसरी तरफ जानकार बताते हैं कि कोरोना काल में जिला के सरकारी कार्यालयों के

लगातार लगभग निष्क्रिय होने की वजह से भी ऐसे मामले इन दिनों अधिक प्रकाश में आ

रहे हैं। जमीन के कारोबार में काफी पैसा फंसा होने की वजह से इस कारोबार से जुड़े लोग

भी आर्थिक तंगी के दौर में हिंसक आचरण करने लगे हैं।


 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from विवादMore posts in विवाद »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: