fbpx Press "Enter" to skip to content

कूटे गांव में प्रकट हुए स्वयंभू शिवलिंग श्रद्धालुओं का तांता

रांचीः कूटे गांव, नयासराय के मुख्य मार्ग पर केबल खुदाई के दौरान स्वयंभू भगवान

शिवजी का विग्रह शिवलिंग प्रकट हुआ। लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक सचिवालय

खुदाई के दौरान मिली यह शिवलिंग लोगों को नजर आयी थी। इसके नजर आते ही आस

पास के लोगों के अलावा कूटे गांव के ग्रामीणों ने वहां पूजा पाठ भी प्रारंभ कर दिया है। 

वीडियो में देखिये बाद का सारा घटनाक्रम

नए विधानसभा के नजदीक सचिवालय निर्माण के लिए हो रही खुदाई के दौरान गड्ढा से

एक छोटा सा शिवलिंग पाया गया । जैसे ही शिवलिंग पर मजदूरों की नजर गई तो इसकी

जानकारी आसपास के लोगों को हुई और वहीं आसपास के लोग वहां पहुंच गए । फिर

इसकी जानकारी नगड़ी थाना को हुई । नगड़ी थाना के पहुंचते की इससे पहले ही ग्रामीण

वहां जुट गए और श्रद्धा पूर्वक पूजा- पाठ की तैयारी भी शुरू कर दी । इसकी जानकारी

जिला उपायुक्त छवि रंजन एवं अनुमंडल पदाधिकारी  को मिली। जिला प्रशासन उक्त

स्थल पर पहुंचकर जानकारी प्राप्त की और फिर शिवलिंग को पास के ही एक मंदिर में रख

दिया गया।  नगड़ी थाना प्रभारी ने बताया कि हम लोगों को यह जानकारी लगभग 11:00

बजे के आसपास मिली थी।  हम लोग उस स्थल पर पहुंचे और देखे की ग्रामीण वहां जुटे

और पूजा पाठ कर रहे हैं । इसकी जानकारी जिला प्रशासन को भी दी गई । वहीं अनुमंडल

पदाधिकारी लोकेश मिश्रा ने बताया कि शिवलिंग मूर्ति बरामद हुई है ।  फिलहाल मंदिर में

रख दिया गया है । जमीन पर काम चल रही है इसलिए जांच की विषय है। जांच के बाद ही

कुछ आगे कहा जा सकता है। दूसरी तरफ इसे देखते ही लोगों ने अपने अपने परिचितों

को इसकी जानकारी दी। जैसे जैसे यह सूचना प्रसारित हुई, वैसे वैसे वहां उत्सुक लोगों की

भीड़ भी बढ़ी। घटना की सूचना पाकर प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस बल भी वहां

पहुंचा। इसी दौरान वहां के सीओ के खिलाफ भी लोगों का आक्रोश भड़का। आरोप है कि

सीओ नगड़ी ने पुलिस की मदद से जबरन उस शिवलिंग को अन्यत्र हटवा दिया।

कूटे गांव और आस पास के लोगों ने सीओ पर आरोप लगाये

आरोप यह भी है कि इस दौरान वहां हिंदू धर्म के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोग भी

किया गया। इससे वहां का माहौल तनावपूर्ण हो गया था। शिवलिंग के प्रकट होने तथा बाद

के घटनाक्रमों की जानकारी मिलने के बाद के विश्व हिंदू परिषद क केंद्रीय मार्गदर्शक

मंडल के स्वामी दिव्यानंद महाराज तथा संगठन से जुड़े अन्य लोग भी वहां पहुंचे। इनमें

राष्ट्रीय संत सुरक्षा मिशन, भारत रक्षा मंच के लोग भी थे। जमीन की खुदाई से निकले

शिवलिंग की वजह से इनलोगों ने मांग की कि शिव मंदिर का निर्माण उसी स्थान पर

किया जाए, जहां से शिवजी प्रकट हुए हैं। इस मौके पर स्थानीय जनता के अलावा मुख्य

रुप से दीपक कुमार, अभिषेक पल्लव, मनीषा, अंकित, बबलू, उज्ज्वल, राकेश तिवारी

आज़ाद सिंह, विकाश, अभिषेक कुमार के साथ सैकड़ों ग्रामीण भी वहां खुदाई के स्थल पर

जहां यह शिवलिंग मिला है वही मंदिर बनाने की मांग कर रहे थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!