fbpx Press "Enter" to skip to content

कुशीनगर पुलिस ने ऑनलाइन फ्राड करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया

कुशीनगरः कुशीनगर पुलिस ने ऑनलाइन फ्राड कर दूसरो के खातों से करीब 84 लाख से

अधिक रुपया निकालने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्रा ने आज यहां यह जानकारी दी । उन्होंने बताया कि

शनिवार को पडरौना नगर केतवाली प्रभारी पवन कुमार सिंह और अतुल्य कुमार पाण्डेय

प्रभारी निरीक्षक साईबर सेल की टीम ने संयुक्त रुप से कार्रवाई करते हुए आईटी एक्ट

मामले में वांछित तसलीम, अंकुर गुप्ता, शोएब अख्तर और करन को गिरफ्तार किया।

कर जेल भेज दिया। उन्होंने बताया कि पकड़े गये लोगों द्वारा केनरा बैंक में एक ही दिन

खाता खुलवाया और विभिन्न खातों में आनलाइन फ्राड करके, छल कपट धोखाधड़ी कर

अपराधिक षडयंत्र कर 84 लाख 54 हजार 495 रूपये 56 पैसे खातों में जमा करा लिया ।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किये गये साइबर अपराधियों ने पूछताछ में बताया कि

गिरोह के सदस्य गांव के कम जानकार लोगों को मोदी सरकार द्वारा खाते में पैंसा भेजने

के नाम पर एक नया खाता खोलवाते हैं और खाता धारक से पासबुक, एटीएम कार्ड,

एटीएम पिन नंबर और खाते में रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर का सिम प्राप्त कर लेते हैं।

कुशीनगर पुलिस ने फ्रॉड के तरीकों की भी जानकारी ली

बाद में जब कई खाते उपलब्ध हो जाते हैं तब सभी खातों का एटीएम कार्ड और पासबुक

एक साथ दिल्ली जाकर ऐसे संगठित साइबर गिरोह को उपलब्ध कराते हैं जिनका संबंध

नाइजीरियन गिरोह से है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस संगठित साइबर गिरोह

द्वारा विभिन्न प्रान्तों में आनलाइन फ्राड कर कर उपलब्ध कराये गये खातों में पैसा जमा

करते हैं और खाते से तुरन्त पैसे की निकासी कर लेते हैं। पकड़े गये आरोपियों को जेल

भेज दिया गया है। उनसे हुई पूछ ताछ के जरिए ही कुशीनगर पुलिस को इस बात की

जानकारी मिली है कि दरअसल इस किस्म का साइबर फ्रॉड को कैसे अंजाम दिया जाता

है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply