fbpx Press "Enter" to skip to content

कुंदन पाहन को भी चुनाव लड़ने की अनुमति मिली







  • आत्मसमर्पण के समय से जारी थी इसकी चर्चा
  • तमाड़ सीट पर राजा पीटर भी मैदान में
  • आजसू का खेमा अलग से उबल रहा
संवाददाता

रांचीः कुंदन पाहन को भी अंततः चुनाव लड़ने की इजाजत मिल गयी है।

एनआईए कोर्ट ने उसके आवेदन को स्वीकार कर लिया है।

कुंदन ने अपने वकील के माध्यम से चुनाव लड़ने की इजाजत मांगी थी।

128 गम्भीर आपराधिक और नक्सल घटनाओं का आरोपी है कुन्दन पाहन

अब इस अनुमति के पास यह तय हो गया है कि वह तमाड़ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेगा।

इस लिए जदयू नेता स्वर्गीय रमेश सिंह मुंडा हत्याकांड के दो अभियुक्त कुंदन पाहन

और राजा पीटर इस चुनाव में एक दूसरे से भी दांव आजमायेंगे।

कभी कुख्यात नक्सली के तौर पर चर्चित कुंदन ने अचानक ही पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।

इस आत्मसमर्पण के बाद से ही उसके चुनाव लड़ने की सूचना पुलिस महकमे से ही छनकर बाहर आयी थी।

वैसे नक्सली लेवी के नाम पर कुंदन का करोड़ों रुपया अब तक कहां है, इस बारे में कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

दूसरी तरफ कुंदन के साथ नक्सली दस्ता में जंगल की खान छानने वाले अन्य लोगों ने अब तक हथियार नहीं डाले हैं।

आत्मसमर्पण के बाद कुंदन को रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में रखा गया था।

अभी हाल ही में अदालत की अनुमति से उसे हजारीबाग उन्मुक्त कारा में स्थानांतरित किया गया है।

वहां कुंदन फिलहाल अपनी पत्नी के साथ रह रहा है।

रांची सहित कई जिलों में उसके खिलाफ दर्ज मामलों में विभिन्न अदालतों में अब भी सुनवाई चल रही है।

कुंदन पाहन को समर्थन देने में कौन आगे होगा, रोचक बात

कुंदन पाहन को किसी राजनीतिक दल से आनन फानन में समर्थन मिलने की कोई उम्मीद नहीं है।

इसलिए समझा जाता है कि वह निर्दलीय ही चुनाव मैदान में उतरने जा रहा है।

लेकिन नक्सली के तौर पर पूरे इलाके को थर्राने वाले इस पूर्व नक्सली को

लोकतंत्र के इस मैदान में जनता का कितना समर्थन मिल पायेगा, यह देखने लायक बात होगी।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply