fbpx Press "Enter" to skip to content

छापामारी के बाद मामले को चुपके से निपटाया कोतवाली थाना ने




रांची : छापामारी में नशा करते पकड़े गये युवकों को कोतवाली थाना ने छोड़ दिया है।

घटनाक्रम के प्रत्यक्षदर्शी दावा करते हैं कि इसके लिए सौदेबाजी हुई है। इस वजह से यह

मामला थाना तक पहुंचा भी नहीं है। गुरुवार की रात पुलिस बल ने प्राप्त गुप्त सूचना के

आधार पर एक स्थान पर यह छापा मारा था। खबर थी कि लॉक डाउन के दौरान भी यहां

रोज बैठकी हो रही है और चोरी छिपे चल रहे इस अड्डे पर कुछ युवक नशा करने रोज आते

हैं। जब पुलिस का छापा पड़ा तो वहां पांच युवक पाये गये। ये सभी लोग सिगरेट में मादक

पदार्थ भरकर पीते पकड़े गये थे। वहां पकड़े जाने के बाद पुलिस ने सभी युवकों के नाम

और पता दर्ज किया गया था। अब बाद में पता चल रहा है कि इस मामले को अंदर ही अंदर

सलटा दिया गया है क्योंकि थाना में इस किस्म की कार्रवाई की कोई सूचना दर्ज नहीं है।

छापामारी के वक्त पकड़े गए बड़े व्यापारी

लॉक डाउन में जरा सी चूक पर जब लोग पकड़े जा रहे हैं तो नशा करते पकड़े गये युवकों

को कैसे छोड़ा गया है, इसकी कल्पना सहज है। जबसे यह अनौपचारिक चर्चा फैली है कि

अब अपर बाजार में भी दुकानदारों के घर घर जाकर कोरोना की जांच होगी, तब से लोग

इस बारे में और सतर्क हो गये हैं। लेकिन छापामारी के वक्त पकड़े गये बड़े व्यापारियों के

पुत्रों को पुलिस ने कैसे छोड़ा होगा, इसका अंदाजा हर कोई लगा सकता है। आस पास के

लोगों से जब इनके बारे में जानकारी हासिल की गयी तो लोगों ने यह बताया कि यह युवक

अक्सर ही नशे में रहते हैं बल्कि यह भी बताया कि अब शायद वे नशे के आदी भी हो चुके

हैं। इनके घर के कारोबार व उद्योग-धंधों के बारे में भी लोगों को पता है इसी वजह से लोगों

को अंदाजा है कि इन युवकों को छोड़ने में पुलिस की अच्छी खासी कमाई हुई होगी।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कामMore posts in काम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

5 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: