fbpx Press "Enter" to skip to content

कोडरमा की पुलिस सख्त भी और नर्म भी

कुमार रमेशम

कोडरमाः कोडरमा में चंद दिनों की ढील के बाद अब पुलिस सख्त है। यह सख्ती राष्ट्रीय

स्तर पर घोषित लॉकडाउन के लेकर बरती जा रही है। पुलिस की सख्ती के बाद अब

निरर्थक सड़कों पर मंडराने वालों की संख्या में कमी आयी है। दूसरी तरफ जिला प्रशासन

तथा अन्य सामाजिक संगठनों की मदद से लोगों को अपनी जरूरत के सामान भी

उपलब्ध होने लगे हैं। इस वजह से अब सख्ती की वजह से लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर

सन्नाटा पसरा हुआ है।

कोडरमा पुलिस की दोहरी भूमिका का वीडियो यहां देखें

जब जनता कर्फ्यू का एलान हुआ था तो लोगों ने उस चौदह घंटे के जनता कर्फ्यू का दिल

से पालन किया था। उसके बाद जब झारखंड में लॉकडाउन का एलान हुआ तो लोग

प्रारंभिक दिनों में इसका पालन करने से हिचक रहे थे। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के एलान के बाद लोगों को कोरोना वायरस के अदृश्य हमले की

गंभीरता समझ में आ चुकी थी। इसके बाद भी अनेक इलाकों में इसका सही तरीके से

पालन नहीं हो रहा था। अनेक लोग सड़कों पर ऐसे भी नजर आ रहे थे, जिन्हें सड़क पर

आने की कोई खास आवश्यकता नहीं थे।

पुलिस ने भोजनालय भी चालू कर दिया

सड़कों पर वेवजह मंडराने वालों के खिलाफ सख्ती करने के साथ साथ कोडरमा पुलिस ने

मौके की नजाकत को देखते हुए गरीबों के लिए भोजन का इंतजाम भी कर दिया। कोडरमा

जिला में लॉक डाउन के मद्देनजर जिला पुलिस प्रशासन द्वारा सामुदायिक रसोई के तहत

6 स्थानों पर जरूरतमंदों और असहाय व राहगीरों के लिए सुबह में 11 और संध्या में 6 बजे

से भोजनालय की व्यवस्था की गई है । जिसमें तिलैया थाना के सुभाष चौक कोडरमा

थाना के बागीतांड जयनगर थाना के परसआबाद पिकेट डोमचांच थाना के सामने चंदवारा

थाना के सामने संचालित है । इसमें एसपी एम तमिल वेनन एसडीपीओ राजेन्द्र प्रसाद

डीएसपी समेत सभी थाना प्रभारी और पुलिसकर्मियों के अहम योगदान और भूमिका है।

इसके अलावा विभिन्न इलाकों में पुलिस द्वारा सुखा राशन भी वितरित किया जा रहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat