fbpx Press "Enter" to skip to content

कोडरमा में एक मरीज में कोरोना संक्रमण पाया गया

  • विशेष कोविड 19 अस्पताल में ईलाज शुरु

  • वरीय अधिकारियों ने गांव का दौरा किया

  • पूरे इलाके की नाकाबंदी कर दी गयी

कोडरमाः कोडरमा में एक मरीज में कोरोना संक्रमण पाया गया है। वहां के सदर अस्पताल

में भर्ती एक मरीज यह संक्रमण पाया गया है। यह व्यक्ति गिरिडीह जिले के राजधनवार

प्रखंड से है। मरीज को विशेष कोविड अस्पताल (होली फैमिली) में स्थानांतरित करते हुये

ईलाज शुरू कर दिया गया है।

वीडियो में देखिये क्या कहते हैं नोडल अधिकारी और सिविल सर्जन

उपायुक्त रमेश घोलप एवं पुलिस अधीक्षक डॉ एम तमिल वानन ने कोडरमा गिरिडीह

सीमा पर स्थित गांव जहानाडीह दौरा किए। निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने प्रखंड

विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी को कई दिशा निर्देश दिए । उन्होंने निर्देश देते

हुए कहा कि सीमा क्षेत्रों के अंतर्गत सभी इलाकों में बेरिकेडिंग करना सुनिश्चित करेंगे।

साथ ही सारे इलाकों को सैनिटाइज करने का भी निर्देश दिए। उपायुक्त ने लोगों से पैनिक

ना हो आह्वान किया । यह खास हिदायत दी गयी कि किसी तरह की अफवाह न फैलाये

ना ही अफवाहों पर विश्वास करे। घरों में रहे। जीवनावश्यक वस्तुओं को खरीदने का

बहाना बनाकर हर दिन घर से बाहर न निकले। अपनी आदतों में परिवर्तन करते हुये दूध,

सब्जी आदी के लिये 3-4 दिन में एकबार ही घर से बाहर निकले। सोशल डिस्टेंसिंग का

पालन करे। दो व्यक्तियों में कम से कम 2 मीटर की दूरी रखे।

कोडरमा में बचाव के नियमों का सभी पालन करें

घर में और घर से बाहर निकलते समय मास्क (घर में कपडे को 3-4 फ़ोल्ड करके बनाया

हुआ भी कारगर होगा) जरूर पहने। किसी भी व्यक्ति को कोरोना के प्राथमिक लक्षण जैसे

खाँसी, बुखार, साँस लेने मे तकलीफ है तो जरूर नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या

सदर अस्पताल में संपर्क करे। सहिया, सेविका और सर्विलांस टीम के सदस्य आपके घर

आकर जानकारी ले रहे है तो उनको सहयोग करे और सही जानकारी दे। प्रशासन पूरी तरह

से सतर्क है। आम जनों से भी सतर्कता और सजगता अपेक्षित है।

इससे पहले गोमिया के एक मरीज में कोरोना संक्रमण के बाद उस इलाके को भी पूरी तरह

सील कर दिया गया है। दूसरी तरफ रांची के हिंदपीढ़ी के इलाके में लगातार दूसरी बार 72

घंटे के लिए इलाका बंद किया गया है। वहां से भी लगातार कोरोना के मरीज पाये जाने की

शिकायत है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यह उपाय किया गया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!