fbpx Press "Enter" to skip to content

धारदार हथियार से टेंपो चालक की जघन्य हत्या, हर पहलुओं पर छानबीन जारी

  • सचिन गोप का प्रेम प्रसंग में हुई हत्या
  • सचिन की नाबालिग प्रेमिका समेत आठ लोगों पर नाम दर्ज कराई प्राथमिकी
  • मृतक सचिन गोप की पूर्व में भी जानलेवा हमला हुई थी

बेड़ो : धारदार हथियार से टेम्पो चालक की जघन्य हत्या का मामला सामने आया है। जहां

बता दें कि बेड़ो थाना क्षेत्र के टेरो महूगांव निवासी 21 वर्षीय सचिन गोप उर्फ करिया गोप

पिता प्रभु गोप की प्रेम प्रसंग को लेकर धारदार हथियार से मारकर उसकी निर्मम हत्या

कर दी गई। हत्या की घटना से पूरे गांव में सनसनी फैल गई । घटना मंगलवार की देर रात

करीब 8:00 से 10:00 के बीच की है। मृतक सचिन गोप का शव महुगांव गांव के ही कुंदन

सिंह के घर में पड़ा हुआ मिला। हत्या की जानकारी गांव वालों को तब हुई जब कुंदन सिंह

अहले सुबह उठकर अपने घर में किसी अनजान व्यक्ति के आकर सो जाने को लेकर

हल्लागुल्ला करने लगा। इसके बाद आसपास के कुछ लोगों ने कुंदन सिंह के घर जाकर

देखा तो वहां खून से लथपथ सचिन गोप का शव पड़ा हुआ था। महुगांव में हुई हत्या की

खबर धीरे धीरे पूरे गांव समेत पूरे बेड़ो प्रखंड में हत्या की खबर आग की तरह फैल गई।

इसके बाद हत्या की सूचना गांव के ही लोगों द्वारा पुलिस प्रशासन को दी गई।

धारदार हथियार से सिर पर प्रेमिका का वार

जिसके बाद बेड़ो थाना प्रभारी श्याम बिहारी मांझी महुगांव गांव पहुंचकर कुंदन सिंह के घर

में मृत पड़ा सचिन गोप उर्फ करिया के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए

रांची भेज दिया। उधर थाना प्रभारी श्याम बिहारी मांझी हत्या के हर पहलुओं पर छानबीन

शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार सचिन के ऊपर एक माह पहले भी जानलेवा हमला किया

गया था। उस समय किसी तरह उसकी जान बच गई थी। उधर दूसरी ओर मृतक सचिन

गोप के पिता प्रभु गोप ने अपने बेटे की हुए हत्या के बाद सचिन गोप की नाबालिग प्रेमिका

समेत आठ लोगों पर बेड़ो थाना में नाम दर्ज प्राथमिकी दर्ज कराया है। जिसमें उन्होंने कहा

है कि उसका बेटा सचिन गोप और गांव के ही बलेश्वर सिंह के बेटी के साथ पिछले एक वर्ष

से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वही पूर्व में एक माह पहले प्रेम प्रसंग को लेकर बलेश्वर सिंह,

महावीर सिंह, अजीत सिंह, बादल सिंह व कुणाल सिंह के द्वारा बेसिक स्कूल के पास

सचिन को मारकर फेंक दिया था। जिसके बाद सचिन को घर में आकर जान से मारने की

धमकी भी दी थी। वहीं गांव के विकास गोप ने बताया कि सचिन गोप रात करीब 8:30 बजे

बुलाकर बताया कि मेरी प्रेमिका हमको कुंदन सिंह के घर पर बुलाई है। जिसके बाद सचिन

कुंदन सिंह का घर रात में चला गया और वारदात को अंजाम दिया। जिसे लेकर मृतक

सचिन गोप के पिता प्रभु गोप ने दावा करते हुए कहा कि प्रेम संबंध को लेकर ही उसके बेटे

सचिन गोप की धारदार हथियार से गांव के ही बलेश्वर सिंह, महावीर सिंह, कलेश्वर सिंह,

राजा सिंह, अजीत सिंह, बादल सिंह, कुणाल सिंह समेत सचिन की नाबालिग प्रेमिका ने ही

उसके सिर में धारदार हथियार से जोर से मारकर हत्या की घटना को अंजाम दिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कामMore posts in काम »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »
More from हादसाMore posts in हादसा »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!