fbpx Press "Enter" to skip to content

कजरेली सब्जी हाट में भी ग्रामीण भी जान गये सोशल डिस्टेंसिंग

दीपक नौरंगी

भागलपुरः कजरेली सब्जी हाट भी पूरे देश की शहरी जनता के लिए एक उदाहरण है।

भागलपुर से 15 किलोमीटर दूर कजरेली जहां सब्जी का हॉट लगता है। आम दिनों में

सब्जी हाट में भीड़ का अंदाजा सभी को होता है। लेकिन कोरोना की वजह से हुए आपात

इंतजाम और लॉकडाउन के बीच एक दूसरे से दूरी बनाकर चलने के नियम का पालन यहां

देखकर प्रसन्नता होती है।

वीडियो में देखिये ग्रामीण जनता और सब्जी विक्रेता का अनुशासन

कजरेली सब्जी हाट की वर्तमान स्थिति और शहरों की धकमपेल को देखकर तो यही कहा

जा सकता है कि यहां के ग्रामीण बहुत ही समझदार हैं और करीब दो दो हाथ दूरी में सभी

लोग सब्जी रखकर सब्जी बेच कर अपना जीवन यापन करते हैं। काफी दूर-दूर से वहां

लोग सब्जी लेकर आते हैं चिंता देवी जिसका पति भी विकलांग है और एक बेटा भी वही

विकलांग है वह सब्जी और मसाला बेचकर अपना जीवन यापन करती है। उसने रोते हुए

कहा कि मेरा सामान नहीं बिक रहा है एकदम ताजा  है तो मैंने खुद सर 50 रुपये का

मसाला उससे लिया। बहुत गरीब महिला थी उसके बाद सब्जी विक्रेताओं से मैंने बात की।

सभी की सब्जी ताजा थी सब्जी नहीं बिक रही थी जिसमें एक घनश्याम को 7 बच्चे थे का

बड़ा कठिन समय है ऐसा जीवन में कभी मैंने देखा नहीं है लेकिन शहरी क्षेत्र से ज्यादा

नियम का पालन ग्रामीण क्षेत्रों में किया जा रहा है आज ऐसा देखने को मिला है।

कजरेली सब्जी हाट अनुशासन का भी बेहतर नमूना

आस पास के शहरो में आने जाने पर लगी रोक के दौरान ऐसे ग्रामीण सब्जी हाट भी बहुत

सारे लोगों के लिए भोजन का आसरा बने हुए हैं। दूसरी तरफ व्यवस्थित और अनुशासित

तरीके से लगने वाले ऐसे सब्जी हाट से कोरोना संक्रमण का खतरा भी न्यूनतम हो जाता

है। देश में बार बार इसी बात के लिए हिदायत भी दी जा रही है कि लोग संक्रमण से बचने

और बचाने के लिए एक दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाकर ही चलें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat