fbpx Press "Enter" to skip to content

ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में शामिल राज्यसभा जाएंगे

  • राहुल गांधी ने कहा सिंधिया कभी भी मेरे घर पर आ सकते थे

  • मध्यप्रदेश के एकमात्र नेता जिन्हें पूछकर आने की जरूरत नहीं थी

  • महाराजा के जाने के बाद म.प्र. का सियासी खेल और तेज हुआ

विशेष प्रतिनिधि

नईदिल्लीः ज्योतिरादित्य सिंधिया अंततः भाजपा में औपचारिक तौर पर शामिल हो गये।

भाजपा में शामिल होते ही भाजपा ने उन्हें राज्यसभा का प्रत्याशी बनाने की घोषणा भी

कर दी। दूसरी तरफ कांग्रेस नेतृत्व से उपेक्षा के आरोप पर पहली बार राहुल गांधी ने अपनी

तरफ से सफाई दे दी। राहुल गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के भीतर

ज्योतिरादित्य सिंधिया अकेले व्यक्ति हैं,  जो कभी भी मेरे घर पर बिना इजाजत के भी

आ सकते थे। उन्होंने इस बात का खंडन किया कि उन्होंने ज्योतिरादित्य से मिलने से

इंकार किया है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति बिना किसी से पूछे कभी भी मेरे घर आ

सकता है, उसे अनुमति की जरूरत ही क्यो पड़ी। उन्होंने तो मध्यप्रदेश सरकार के गठन के

वक्त उनके तथा कमलनाथ के बीच जारी रस्साकसी को समाप्त करने की पहल की थी।

इस बीच मध्यप्रदेश में सरकार बचाने और गिराने का खेल भी तेज हो गया है। डोरे डाल

रही भाजपा के चंगुल से अपने विधायकों को बचाने के लिए अन्यत्र हटा लिया गया है।

समझा जाता है कि आने वाले दिनों में अधिकाधिक विधायकों को अपने पाले में करने का

खेल और तेज होगा। इसी भय से कांग्रेस ने बचाव की यह तैयारी कर ली है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों पर फैसला शीघ्र

राजनीति के जानकार यह मानते हैं कि कर्नाटक के बाद महाराष्ट्र और अब मध्यप्रदेश के

घटनाक्रमों ने यह साबित कर दिया कि पार्टी को भी अपने विधायकों पर कोई भरोसा नहीं

रहा है। इसी वजह से संख्याबल को बनाये रखने के लिए ऐसी कार्रवाई करनी पड़ती है। इस

बीच जिन सिंधिया समर्थक विधायकों ने इस्तीफा देने का फैसला अब विधानसभा अध्यक्ष

के विवेक पर ठहर गया है।


 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat