fbpx Press "Enter" to skip to content

जेवीएम की नई कार्यसमिति से प्रदीप -बंधु तिर्की दोनों बाहर

रांचीः जेवीएम की नई कार्यसमिति के गठन से पार्टी के अंदर की

राजनीति स्पष्ट होने लगी है। काफी दिनों तक चर्चा में होने के बाद भी

गायब चल रहे बाबूलाल मरांडी रांची लौट आये हैं। रांची वापसी के साथ

ही पूर्व मुख्य मंत्री और झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने फैसले लेने

शुरू कर दिए हैं। उनके नहीं होने के दौरान उनके लगातार भाजपा में

शामिल होने की चर्चा जोर पकड़ रही थी। इस बारे में लौट आने के बाद

श्री मरांडी ने साफ कर दिया कि उनके भाजपा में शामिल होने का दावा

जो लोग कर रहे हैं, इसकी सच्चाई भी वे लोग भी बतायेंगे। इस बारे में

वह पहले ही बहुत कुछ बोल चुके है। इसलिए नये सिरे से इस पर अब

कुछ नहीं बोलेंगे। उन्होंमने शुक्रवार को झारखंड विकास मोर्चा

की नई कार्यसमिति गठित कर दी। झाविमो की 151 सदस्यों की नई

कार्यसमिति बनी है। जेवीएम के दोनों विधायक प्रदीप यादव और बंधु

तिर्की को पार्टी में कोई पद नहीं दिया गया है| पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष

बाबूलाल मरांडी ने शुक्रवार को नई कार्यसमिति बनाई। अभय कुमार

सिंह को जेवीएम का प्रधान महासचिव बनाया गया है। झाविमो के

जिलाध्यक्षों का भी नए सिरे से मनोनयन किया गया है।

जेवीएम के अंदर अब भी विलय की चर्चा जोरों पर

जानकारी के मुताबिक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की झाविमो के अपने

पद से हटाए गए हैं। केंद्रीय कार्यसमिति में अब दोनों विधायक केवल

सदस्य रह गए। इस सवाल पर नवनियुक्त प्रधान सचिव अभय कुमार

सिंह ने कहा कि प्रदीप यादव को पहले ही विधायक दल के नेता की

महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने पार्टी के भाजपा में विलय के

सवाल पर गोलमटोल जवाब दिया। अभय ने कहा कि कार्यसमिति का

पुनर्गठन पार्टी को मजबूत बनाने के लिए किया गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply