fbpx Press "Enter" to skip to content

फेसबुक और व्हाट्सएप मामलों की जांच करे संसद की संयुक्त समितिः कांग्रेस

नयी दिल्लीः फेसबुक और व्हाट्सएप मामले पर कांग्रेस अब भी दो दो हाथ करना चाहती

है। कांग्रेस ने अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक और व्हाट्सएप पर भारतीय

लोकतंत्र को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि देश की संप्रभुता के लिए

चुनौती बन रही इन कंपनी के अधिकारियों की भूमिका की संयुक्त संसदीय समिति से

जांच कराई जानी चाहिए। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, प्रवक्ता प्रवीण

चक्रवर्ती और रोहन गुप्ता ने सोमवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि

फेसबुक, व्हाट्सएप जिस तरह से देश की संप्रभुता पर हमला कर रहे हैं, वह भारतीय

लोकतंत्र के लिए चुनौती बन गया है और उसकी इस भूमिका की संसद की संयुक्त समिति

से जांच कराये जाने की सख्त आवश्यकता है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि महज एक

पखवाड़े में तीन लेख अमेरिकी अखबार वाल स्ट्रीट जनरल तथा टाइम पत्रिका में छप चुके

हैं जिनमें खुलासा हुआ है कि फेसबुक तथा ’’ाट्सएप भारतीय जनता पार्टी को चुनावी

फायदा पहुंचाने के लिए काम रही है। इन कंपनियों के शीर्ष अधिकारी सारे नियमों को ताक

पर रखकर सत्ताधारी दल को राजनीतिक लाभ देने की नीति पर काम कर रहे है।

फेसबुक और व्हाट्सएप पर कांग्रेस का आक्रामक रुख

इन कंपनियों की भूमिका की जांच संसद की संयुक्त समिति करे और इन कपंनियों को ऐसी

सजा मिले ताकि विदेशी कंपनियों को यह संदेश जाए कि भारतीय लोकतंत्र को कमजोर

करने का प्रयास किसी भी स्थिति में नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिकी

समाचार पत्र ने खुलासा किया है कि भारत में फेसबुक की प्रमुख अंखी दास लगातार 2012

से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए काम कर रही हैं। श्री मोदी को 2014 के चुनाव में फेसबुक

के माध्यम से उन्होंने चुनाव जिताने का काम किया है। फेसबुक प्रमुख की नीतियों को

लेकर कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी आपत्ति जताई थी लेकिन इसके बावजूद

उनकी भूमिका पर किसी ने कुछ नहीं किया। फेसबुक प्रबंधन ने उनके खिलाफ कार्रवाई

करना भी उचित नहीं समझा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from देशMore posts in देश »
More from बयानMore posts in बयान »
More from विवादMore posts in विवाद »
More from साइबरMore posts in साइबर »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!