fbpx Press "Enter" to skip to content

जीनागोरा लोडिंग प्वाइंट पर ट्रक के रोके जाने पर दोनों गुटों के समर्थक आमने सामने




अलकडीहाः जीनागोरा लोडिंग प्वाइंट के मजदूर नेता रामबाबू यादव के सिपहसलार

विनोद कु यादव ने अपने ही नेता के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद कर आधा दर्जन

मजदूर सरदारों को साथ लेकर अलग से हिस्सेदारी कि मांग को लेकर शुक्रवार को कोयला

लदी ट्रक को रोक दिया। ट्रक के रोके जाने जाने के बाद दोनों गुटों के समर्थक आमने

सामने हो गयी जिससे टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गयी। मामले की सूचना मिलने के

बाद अलकडीहा ओपी के सअनि अनुज टोप्पो दलबल के साथ पहुंचकर स्थिति को

नियंत्रित कर ट्रक को गंतव्य को रवाना किया परंतु उक्त ट्रक को कांटा घर पर वजन

कराने को जाने के दौरान रेलवे क्रॉसिंग के पास विनोद समर्थक मजदूर सरदार प्रदीप

चौहान, नीतीश कुमार, मुन्ना चौहान, शंभू यादव, संजय यादव ने दर्जनों लोगों के साथ

लोडिंग की रुपया की मांग को लेकर ट्रक को रोक कर लोडिंग प्वाइंट पर वापस भेज दिया।

ट्रक को जबरन लोडिंग प्वाइंट पर वापस भेजे जाने के बाद पुलिस भड़क गयी और वह इस

मामले में रेस होकर दबंगों की खोज बीन को क्षेत्र में छापामारी करने लगे जिससे ट्रकों को

रोकने का समर्थन करनेवाले लोगों में भगदड़ मच गयी। इस दौरान पुलिस ने जीनागोरा

कांटा घर के पास से चार अज्ञात मोटरसाइकल को जब्त किया तथा लोडिंग ट्रक के डीओ

धारक के मुंशी अमित कुमार को पूछताछ के लिए ओपी लाया गया। डीओ मुंशी अमित ने

बताया की ट्रक लोडिंग करनेवाले मजदूर जिसे लोडिंग चार्ज देने को कहेंगे उसे ही दिया

जाएगा ।

जीनागोरा लोडिंग प्वाइंट का क्या है मामला

बताते हैं कि जीनागोरा लोडिंग प्वाइंट में भाजपा नेता सतीश महतो, जमसंघ कुंती गुट

नेता विद्यार्थी सिंह, राजद नेता रामबाबू यादव के नेतृत्व में लगभग पांच सौ असंगठित

मजदूर वर्षो से ट्रक लोडिंग का कार्य करते आ रहे हैं । तीनो नेता मजदूरों को नियंत्रण करने

तथा लोडिंग कार्य के संचालन के लिए एक एक प्रतिनिधि रखे हैं । रामबाबू ने विनोद

यादव को अपना प्रतिनिधि के रूप में रखा था । इधर कुछ दिनों से विनोद की गतिविधि

नेता समर्थक मजदूर सरदारों के तोड़फोड़ करने में लगी थी । इसकी सूचना मिलने के बाद

रामबाबू यादव ने विनोद एवं उसके समर्थक आधा दर्जन सरदारों को मजदूर विरोधी कार्य

करने का आरोप लगाकर पिछले दिनों निलंबित कर दिया हैं । जिससे भड़के विनोद यादव

ने हटाए गए सरदारों के साथ कोयला लदी ट्रक की मजदूरी दस हजार सात सौ की मांग को

लेकर ट्रक को रोक कर हंगामा किया । मामले को लेकर पुलिस ने दोनों पक्षों को बुलाया है।

विनोद यादव ने कहा की ट्रक लोडिंग के लिए मिलनेवाली राशि में नेता कटौती कर मजदूरों

का भुगतान करते है जिसके खिलाफ सरदारों ने नेता का विरोध किया है । कोयला लदी

ट्रक के मजदूर सुंदरी देवी समेत दस मजदूरों ने बताया कि हमलोग किसी सरदार को नहीं

जानते हैं ।

मजदूरों ने कहा हम सिर्फ रामबाबू को जानते हैं

हमलोग सिर्फ अपने नेता रामबाबू को जानते है । वे कोयला लोडिंग के लिए जिस ट्रक को

आवंटित करते है हमलोग उसे लोड करते है तथा उसके द्वारा भेजे गए प्रतिनिधि के

माध्यम से डीओ धारक से मजदूरी लेकर मजदूरी बांटी जाती है । लेबर सरदार दुखन

यादव और भूषण पासवान ने कहा की हटाए गए सरदार लोडिंग प्वाइंट पर हमेशा मजदूर

विरोधी कार्यो में संलिप्त था । ट्रक चालको से रंगदारी के लिए ट्रक को रोका गया था

जिसका सभी मजदूर मिलकर डटकर विरोध करेंगे । लेबर सरदार मुन्ना चौहान के बारे में

कहा की वह बीसीसीएल में नौकरी करता है इसलिए उसे मजदूर सरदार से हटा दिया गया

है । रवींद्र कुमार शर्मा अलकडीहा ओपी प्रभारी ने बताया कि लोडिंग प्वाइंट में लोडिंग के

आड़ में अशांति भंग करने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी, किसी ने विधि व्यवस्था

बिगाड़ने की कोशिश की तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी । लॉक डाउन

में किसी तरह की आंदोलन करने पर लगी रोक के बाद भी कुछ लोगों ने ट्रक को रोकने का

काम किया है जो कानूनन गलत है ।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from धनबादMore posts in धनबाद »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: